Saturday, 9 October 2021

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा स्वीकृत प्रथम मलेरिया वैक्सीन

विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा स्वीकृत प्रथम मलेरिया वैक्सीन

 


विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) उप-सहारा अफ्रीका में बच्चों के बीच आरटीएस, एस/एएस01 (RTS,S) मलेरिया वैक्सीन और अन्य क्षेत्रों में मध्यम से उच्च पी. फाल्सीपेरम (P. falciparum) मलेरिया संचरण की सिफारिश कर रहा है। डब्ल्यूएचओ का यह निर्णय घाना, केन्या और मलावी में चल रहे एक पायलट प्रोग्राम के परिणामों पर आधारित है जो 2019 से अबतक 800 000 से अधिक बच्चों तक पहुंच चुका है।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

IBPS RRB क्लर्क मेन्स और SBI क्लर्क मेन्स 2021 परीक्षाओं के लिए करेंट अफेयर्स GA पॉवर कैप्सूल: Download PDF

वैक्सीन को ब्रिटिश दवा निर्माता ग्लैक्सोस्मिथक्लाइन (GlaxoSmithKline - GSK) द्वारा विकसित किया गया है। वायरस और बैक्टीरिया के खिलाफ कई टीके मौजूद हैं लेकिन यह पहली बार था जब डब्ल्यूएचओ ने मानव परजीवी के खिलाफ टीके के व्यापक उपयोग की सिफारिश की थी। वैक्सीन प्लाज्मोडियम फाल्सीपेरम (Plasmodium falciparum) के खिलाफ काम करती है, जो पांच परजीवी प्रजातियों में से एक है और सबसे घातक है। मलेरिया के लक्षण हैं बुखार, सिरदर्द और मांसपेशियों में दर्द, फिर ठंड लगना, बुखार और पसीना आना।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • डब्ल्यूएचओ के अध्यक्ष: टेड्रोस अधानोम (Tedros Adhanom)।
  • डब्ल्यूएचओ का मुख्यालय: जिनेवा, स्विट्जरलैंड।
  • डब्ल्यूएचओ की स्थापना: 7 अप्रैल 1948।

Find More Sci-Tech News Here

Centre launches ICMR's drone-based vaccine delivery model 'i-Drone'_90.1

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search