Monday, 9 July 2018

आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने ISCF और ISCI प्रोग्राम का आयोजन किया

आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने ISCF और ISCI प्रोग्राम का आयोजन किया


श्री हरदीप एस पुरी, राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), आवास और शहरी मामलों के मंत्रालय ने भारत स्मार्ट सिटीज फैलोशिप (ISCF) और इंटर्नशिप (ISCI) कार्यक्रम शुरू किया है जो युवाओं को शहरी नियोजन के पहलुओं और शासन का अनुभव करने का अवसर प्रदान करेगा.


'स्मार्ट सिटीज डिजिटल पेमेंट्स अवार्ड्स 2018' भी लॉन्च किया गया था जिसका उद्देश्य डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने और डिजिटल शहरों को अभिनव डिजिटल भुगतान पहल को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करके 'डिजिटल इंडिया' को बढ़ावा देना और भारत के शहरी निवासियों के आवास को आसान बनाने का लक्ष्य था.'

1. इंडिया स्मार्ट सिटीज फैलोशिप (ISCF) कार्यक्रम: इंडिया स्मार्ट सिटीज फैलोशिप प्रोग्राम स्मार्ट शहरों में दिलचस्पी रखने वाले युवाओं को विशेष रूप से सामान्य शहरी नवीनीकरण क्षेत्र के तैयार किया गया है जो प्रमुख शहरी समस्याओं के बढ़ते, उच्च प्रभाव वाले समाधानों को लागू करने के चुनौतीपूर्ण लेकिन रोमांचक काम के लिए नए विचार, जुनून और ऊर्जा लाएगा.

2. इंडिया स्मार्ट सिटी इंटर्नशिप (ISCI) कार्यक्रम: MoHUA विभिन्न राज्यों / शहरों में स्मार्ट सिटी परियोजनाओं के क्रियान्वयन में सहायता के लिए इंटर्न के रूप में अंडर ग्रेजुएट / ग्रेजुएट / पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री के छात्रों को शामिल करेगा. इंटर्नशिप 6 से 12 सप्ताह की अवधि के लिए अवैतनिक आधार पर होगी. कार्यक्रम के सफल समापन पर उन्हें एक अनुभव प्रमाणपत्र दिया जाएगा. 

3. स्मार्ट सिटीज डिजिटल पेमेंट्स अवार्ड्स 2018: स्मार्ट सिटीज डिजिटल पेमेंट्स अवॉर्ड्स (SCDPA) 2018 '100 स्मार्ट शहरों में 100 दिन चुनौती' भारत के शहरी निवासियों के लिए जीवन की आसानी को बढ़ावा देने के लिए एमओएचयूए की पहल का हिस्सा है. इन पुरस्कारों का उद्देश्य डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने और अपने संबंधित शहरों में अभिनव भुगतान पहल उपयोग करने के लिए स्मार्ट शहरों का मार्गदर्शन, प्रेरित, पहचान और पुरस्कृत करना है. 
स्रोत- प्रेस इनफार्मेशन ब्यूरो (PIB)


Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search