Tuesday, 20 July 2021

महाराष्ट्र ब्लॉकचैन प्रौद्योगिकी का उपयोग कर प्रमाण पत्र जारी करेगा

महाराष्ट्र ब्लॉकचैन प्रौद्योगिकी का उपयोग कर प्रमाण पत्र जारी करेगा

 


महाराष्ट्र देश का पहला राज्य होगा जो ब्लॉकचेन (blockchain) तकनीक का उपयोग करके शैक्षिक दस्तावेज जारी करेगा। विभिन्न शैक्षणिक और अन्य संस्थानों में दस्तावेजों की जालसाजी एक गंभीर चिंता का विषय है। दस्तावेजों के सत्यापन के साथ जालसाजी से बचने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। महाराष्ट्र राज्य कौशल विकास बोर्ड (Maharashtra State Board of Skill Development) ने छात्रों को ब्लॉकचेन-आधारित प्रमाणपत्र जारी करने का निर्णय लिया है।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

आठ शैक्षणिक वर्षों के डिप्लोमा धारकों को लगभग 10 लाख डिजिटल प्रमाण पत्र जारी किए जाएंगे।श्री मलिक ने  कहा कि सिंगापुर, माल्टा और बहरीन इस तकनीक का उपयोग करने वाले एकमात्र देश हैं। शैक्षिक प्रमाणपत्रों के लिए महाराष्ट्र पहला भारतीय राज्य और ब्लॉकचैन का दुनिया का सबसे बड़ा उपयोगकर्ता होगा। प्रत्येक छात्र को एक "सर्टिफिकेट_लेगिटडॉक.ज़िप (certficate_LegitDoc.zip") डिजिटल फ़ाइल प्राप्त होगी जिसमें मूल पीडीएफ डिप्लोमा प्रमाणपत्र और उससे संबंधित ब्लॉकचेन प्रूफ फ़ाइल होगी। इसे दुनिया भर में कहीं से भी 10 सेकंड के भीतर सत्यापित किया जा सकता है और इसमें मानवीय हस्तक्षेप की आवश्यकता नहीं होती है।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • महाराष्ट्र राज्यपाल: भगत सिंह कोश्यारी (Bhagat Singh Koshyari)।
  • महाराष्ट्र राजधानी: मुंबई।
  • महाराष्ट्र सीएम: उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray)।


Find More State In News Here


Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search