Tuesday, 13 July 2021

पहली बार, हिमालयी याक का होगा बीमा

पहली बार, हिमालयी याक का होगा बीमा

 



हिमालयी याक (Himalayan Yak) हाल ही में अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम कामेंग ज़िले के दिरांग में स्थित याक पर राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र (National Research Centre on Yak- NRCY) ने उच्च तुंगता (High Altitude) वाले क्षेत्रों में पाए जाने वाले याक का बीमा करने के लिये नेशनल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (NICL) के साथ करार किया है। बीमा पॉलिसी याक मालिकों को मौसम की आपदाओं, बीमारियों, पारगमन दुर्घटनाओं, सर्जिकल ऑपरेशनों और हड़तालों या दंगों से उत्पन्न जोखिमों से बचाएगी। याक के मालिकों को अपने पशुओं का बीमा कराने के लिए अपने याक के कान का निशान लगाना होगा और उचित विवरण देना होगा।


Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams


हिमालयी याक के विषय में:


  • हिमालयी याक एक लंबे बालों वाला पालतू पशु है जो भारतीय उपमहाद्वीप के हिमालयी क्षेत्र, तिब्बती पठार, म्यांमार और उत्तर में मंगोलिया और साइबेरिया तक पाया जाता है।
  • वे बहुत ठंडे तापमान के आदी हैं और -40 डिग्री तक जीवित रह सकते हैं लेकिन जब तापमान 13 डिग्री से अधिक हो जाता है तो उन्हें मुश्किल होती है।
  • भारत में याक की कुल आबादी लगभग 58,000 है।
  • याक की सबसे ज्यादा आबादी केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख और जम्मू-कश्मीर में है। इसके बाद अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, हिमाचल प्रदेश और पश्चिम बंगाल और उत्तराखंड का स्थान है।

Find More Miscellaneous News Here

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search