Friday, 22 January 2021

एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक (D-SIBs) के रूप में बरक़रार

एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी बैंक (D-SIBs) के रूप में बरक़रार

 



भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कहा कि निजी करदाता आईसीआई बैंक (ICICI Bank) और एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) के साथ-साथ राज्य स्वामित्व वाले भारतीय स्‍टेट बैंक (SBI), जो  इतने बड़े बैंक है कि कभी डूब (too-big-to-fail) नहीं सकते, को डोमेस्टिक सिस्‍टेमिकली इम्‍पोर्टेंट बैंक्‍स (D-SIBs) के रूप में निरंतर बरकरार हैं. एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक की पहचान 2018 के D-SIB की सूची के समान बकेटिंग संरचना के तहत घरेलू प्रणालीगत रूप से महत्वपूर्ण बैंकों (D-SIB) के रूप में की गई है.


WARRIOR 4.0 | Banking Awareness Batch for SBI, RRB, RBI and IBPS Exams | Bilingual | Live Class


SIBs के बारे में:

  • SIB को पर्यवेक्षण के उच्च स्तर के अधीन किया जाता है ताकि किसी भी विफलता की स्थिति में वित्तीय सेवाओं में व्यवधान को रोका जा सके.
  • रिज़र्व बैंक ने  जुलाई 2014 को घरेलू प्रणालीगत रूप से महत्वपूर्ण बैंकों (D-SIB) से निपटने के लिए रूपरेखा जारी की थी. 
  • D-SIB ढांचे के लिए रिज़र्व बैंक को 2015 से शुरू होने वाले D-SIB के रूप में नामित बैंकों के नामों को प्रकट करने की आवश्यकता है और इन बैंकों को उनके प्रणालीगत महत्व के स्कोर (SISs) के आधार पर उपयुक्त बकेट में रखना है.
  • SIB को वित्तीय संकट के समय में सरकार के लिए समर्थन की उम्मीद पैदा करने वाले इतने बड़े बैंक जो कभी डूब (too-big-to-fail) नहीं सकते, के रूप में देखा जाता है. ये बैंक फंडिंग मार्केट में कुछ खास फायदों का भी आनंद लेते हैं.


सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य:

  • भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) मुख्यालय: मुंबई, महाराष्ट्र.
  • भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना: 1 अप्रैल 1935.
  • भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर: शक्तिकांता दास.


Find More Banking News Here


Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search