Wednesday, 23 September 2020

अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस: 23 सितंबर

अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस: 23 सितंबर

 


International Day of Sign Languages: हर साल 23 सितंबर को विश्व स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस मनाया जाता है। यह दिन सांकेतिक भाषाओं  (साइन लैंग्वेज) के बारे  में जागरूकता बढ़ाने और सांकेतिक भाषाओं की स्थिति को मजबूत करने के लिए मनाया जाता है। इसके अलावा, सितंबर के पुरे अंतिम सप्ताह को International Week of the Deaf यानि अंतर्राष्ट्रीय बधिरता सप्ताह के रूप में मनाया जाता है।

वर्ष 2020 के अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस की थीम है “Sign Languages are for Everyone!”


Boost your Banking Awareness Knowledge with Adda247 Live Batch: TARGET GA BATCH | Banking Awareness Batch for SBI, RRB, RBI and IBPS Exams


अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस का इतिहास:

23 सितंबर का चयन वर्ष 1951 में विश्व फेडरेशन ऑफ डेफ (World Federation of the Deaf) की स्थापना की याद में किया गया था, जो बधिर लोगों के 135 राष्ट्रीय संघों का एक संघ है, जो दुनिया भर में लगभग 70 मिलियन बधिर लोगों के मानवाधिकारों को बढ़ावा देने काम करता है।

यह दिन समर्थित संगठन के जन्म का प्रतीक है, जिसमें इसके मुख्य लक्ष्यों में से एक, सांकेतिक भाषाओं के संरक्षण और बधिर लोगों के मानवाधिकारों की प्राप्ति के लिए पूर्व-आवश्यकता के रूप में बधिर संस्कृति का संरक्षण है। अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस पहली बार 2018 में अंतर्राष्ट्रीय बधिरता सप्ताह के भाग के रूप में मनाया गया। बधिरों का अंतर्राष्ट्रीय सप्ताह पहली बार सितंबर 1958 में मनाया गया था और तब से यह बधिर एकता के एक वैश्विक आंदोलन के रूप में विकसित हो गया है, जो मूक बधिर लोगों को अपने रोजमर्रा के जीवन में आने वाले मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए वकालत करता है।


उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-

  • वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ डेफ अध्यक्ष: जोसेफ जे. मुर्रे
  • वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ डेफ स्थापित: 23 सितंबर 1951, रोम, इटली.
  • वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ डेफ मुख्यालय का विश्व महासंघ स्थान: हेलसिंकी, फिनलैंड.

Find More Important Days Here

Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search