Wednesday, 22 July 2020

भारत-मालदीव ने माले में "आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं" शुरू करने के लिए किया समझौता

भारत-मालदीव ने माले में "आपातकालीन चिकित्सा सेवाएं" शुरू करने के लिए किया समझौता

भारत और मालदीव ने मालदीव की राजधानी माले में 'आपातकालीन चिकित्सा सेवाओं' को शुरू करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। आपातकालीन चिकित्सा सेवा भारत द्वारा पड़ोसी देशों के लिए 20 मिलियन अमरीकी डालर की अनुदान सहायता के तहत वित्तपोषित की गई है। इससे देशों के बीच सहयोग बढ़ाने, विशेष रूप से स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं के क्षेत्रों में कठिन समय के दौरान आपदा जैसी समस्याओं से निपटने में मदद मिलेगी।


COVID-19 के दौरान पड़ोसियों के प्रति भारत की भूमिका:
  • भारत ने अप्रैल 2020 में विदेशी मुद्रा स्वैप सहयोग के तहत मालदीव के लिए 150 मिलियन अमरीकी डालर की वित्तीय सहायता का विस्तार किया है।
  • भारत ने सेशेल्स, मॉरीशस, मालदीव, कोमोरोस देशों को चिकित्सा आपूर्ति, खाद्य पदार्थ, आयुर्वेदिक दवाएं प्रदान करने के लिए ऑपरेशन SAGAR शुरू किया।
  • इसके अलावा भारत ने मालदीव में फंसे भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए ऑपरेशन समुंद्र सेतु का भी शुभारंभ किया।

उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • मालदीव के राष्ट्रपति: इब्राहिम मोहम्मद सोलीह.
  • मालदीव की राजधानी: माले; मालदीव की मुद्रा: मालदीव रूफिया.


Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search