Home   »   आधार डेटा की गोपनीयता और सुरक्षा...

आधार डेटा की गोपनीयता और सुरक्षा को मजबूत करने के लिए यूआईडीएआई ने शुरू की ‘वर्चुअल आईडी’

आधार डेटा की गोपनीयता और सुरक्षा को मजबूत करने के लिए यूआईडीएआई ने शुरू की 'वर्चुअल आईडी' |_40.1
भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने आधार संख्या धारकों की गोपनीयता और सुरक्षा को और मजबूत करने के लिए ‘वर्चुअल आईडी’ की एक अवधारणा को शुरू किया है. आधार संख्या धारक प्रमाणीकरण या केवाईसी सेवाओं की प्रक्रिया के लिए ‘वर्चुअल आईडी’ का उपयोग आधार संख्या के स्थान पर कर सकते हैं.

आधार कार्ड धारक यूआईडीएआई वेबसाइट से वर्चुअल आईडी जेनरेट कर सकते हैं और वास्तविक 12 अंकों के बॉयोमीट्रिक आईडी को साझा करने के बजाय सिम कार्ड सत्यापन सहित विभिन्न प्रयोजनों के लिए दे सकते हैं. वर्चुअल आईडी एक अस्थायी और पुनरावर्तनीय 16 अंकों वाली यादृच्छिक संख्या होगी जो कि किसी व्यक्ति के आधार संख्या में मैप की जाती है.

IBPS Clerk Mains 2017 परीक्षा के लिए उपरोक्त समाचार से परीक्षा उपयोगी तथ्य –

  • यूआईडीएआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) – अजय भूषण पांडे, मुख्यालय – नई दिल्ली.
स्रोत- एआईआर वर्ल्ड सर्विस


Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

TOPICS:

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *