Home   »   संसद रत्न पुरस्कार 2023: मनोनीत सांसदों...

संसद रत्न पुरस्कार 2023: मनोनीत सांसदों की सूची देखें

संसद रत्न पुरस्कार 2023: मनोनीत सांसदों की सूची देखें |_30.1

संसद रत्न पुरस्कार 2023 के लिए इस बार 13 सांसदों को नॉमिनेट किया गया है। इसमें राज्यसभा के 5 सांसद और लोकसभा के 8 सदस्यों का नाम है। संसदीय मामलों के मंत्री अर्जुन राम मेघवाल और भारत के पूर्व चुनाव आयुक्त टीएस कृष्णमूर्ति की अध्यक्षता वाली जूरी समिति ने इन सदस्यों का नाम दिया है। 13वें संसद रत्न पुरस्कार 2023 की घोषणा 25 मार्च को दिल्ली में की जाएगी। यह पुरस्कार सिविल सोसाइटी की ओर से प्रदान किए जा रहे हैं।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

इन पुरस्कारों की शुरुआत पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के सुझावों के मद्देनजर की गई थी। उनका सुझाव भारतीय संसद में सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले सांसदों को सम्मानित करने का था। इसी सुझाव के आधार पर संसद रत्न पुरस्कार की शुरुआत की गई है। 2010 से शुरू हुआ यह एक निजी पुरस्कार है।

 

लोकसभा से संसद रत्न पुरस्कार 2023

 

  1. विद्युत बरन महतो (भाजपा, झारखंड),
  2. डॉ. सुकांत मजूमदार (भाजपा, पश्चिम बंगाल),
  3. कुलदीप राय शर्मा (कांग्रेस, अंडमान निकोबार द्वीप समूह),
  4. डॉ हीना विजयकुमार गावित (भाजपा, महाराष्ट्र),
  5. अधीर रंजन चौधरी (कांग्रेस, पश्चिम बंगाल),
  6. गोपाल चिनय्या शेट्टी (भाजपा, महाराष्ट्र),
  7. सुधीर गुप्ता (भाजपा, मध्य प्रदेश) और
  8. डॉ. अमोल रामसिंह कोल्हे (राकांपा, महाराष्ट्र)

 

राज्यसभा से संसद रत्न पुरस्कार 2023

 

  1. डॉ. जॉन ब्रिटास (सीपीआई-एम, केरल),
  2. डॉ. मनोज कुमार झा (राजद, बिहार),
  3. श्रीमती फौजिया तहसीन अहमद खान (एनसीपी, महाराष्ट्र)
  4. विशंभर प्रसाद निषाद (समाजवादी पार्टी, यूपी)
  5. श्रीमती छाया वर्मा (कांग्रेस, छत्तीसगढ़)

 

लोकसभा की दो संसदीय समितियों को संसद रत्न पुरस्कार 2023 के लिए नामित किया गया

 

  • जयंत सिन्हा की अध्यक्षता में वित्त पर लोकसभा की संसदीय समिति
  • विजय साईं रेड्डी की अध्यक्षता में पर्यटन, परिवहन और संस्कृति पर राज्य सभा की स्थायी समिति

 

लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार

 

डॉ एपीजे अब्दुल कलाम लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड – टी के रंगराजन, (दो कार्यकाल के लिए पूर्व राज्यसभा सांसद और एक वरिष्ठ सीपीआईएम नेता)।

 

संसद रत्न पुरस्कार के बारे में

 

  • संसद रत्न पुरस्कारों की स्थापना डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के सुझाव पर शीर्ष प्रदर्शन करने वाले सांसदों को सम्मानित करने के लिए की गई थी।
  • उन्होंने स्वयं 2010 में चेन्नई में पुरस्कार समारोह के पहले संस्करण का शुभारंभ किया।
  • अब तक, 90 शीर्ष प्रदर्शन करने वाले सांसदों को सम्मानित किया गया है और उन सभी ने व्यक्तिगत रूप से पुरस्कार प्राप्त किया है।
  • पुरस्कार समारोह का 13वां संस्करण 25 मार्च 2023 को नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा।
  • के. श्रीनिवासन सांसद रत्न पुरस्कार समिति के संस्थापक अध्यक्ष हैं और सुश्री प्रियदर्शनी राहुल अध्यक्ष हैं।

Find More Awards News Here

 

संसद रत्न पुरस्कार 2023: मनोनीत सांसदों की सूची देखें |_40.1

FAQs

भारतीय संसद के कितने अंग होते हैं?

संसद केंद्र सरकार का विधायी अंग है। संविधान के अनुसार, भारत की संसद के तीन अंग है – राष्ट्रपति, लोकसभा और राज्यसभा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *