Home   »   रोहित ऋषि की बैंक ऑफ महाराष्ट्र...

रोहित ऋषि की बैंक ऑफ महाराष्ट्र में कार्यकारी निदेशक के रूप में नियुक्ति

रोहित ऋषि ने श्री ए. बी. विजयकुमार का स्थान लेते हुए बैंक ऑफ महाराष्ट्र में कार्यकारी निदेशक की भूमिका संभाली है। उनकी नियुक्ति तीन वर्ष के कार्यकाल के लिए है, जो 1 नवंबर, 2023 से लागू होगी।

रोहित ऋषि ने बैंक ऑफ महाराष्ट्र में कार्यकारी निदेशक का पद संभाला है। यह नियुक्ति श्री ए. बी. विजयकुमार के स्थान पर 1 नवंबर, 2023 से शुरू होकर तीन वर्ष के कार्यकाल के लिए है। उनका व्यापक अनुभव, शैक्षणिक योग्यता और पेशेवर कौशल उन्हें बैंक की नेतृत्व टीम के लिए एक मूल्यवान सदस्य बनाते हैं।

विविध और निपुण कैरियर

रोहित ऋषि की व्यावसायिक यात्रा 1995 में शुरू हुई जब वह एक औद्योगिक विकास अधिकारी के रूप में इंडियन बैंक में शामिल हुए। 28 वर्षों से अधिक के अनुभव के साथ, उन्होंने बैंकिंग उद्योग के विभिन्न पहलुओं को सफलतापूर्वक पार किया है। अपने पूरे करियर के दौरान, ऋषि ने विभिन्न भूमिकाओं में आगे बढ़ने की अपनी क्षमता का प्रदर्शन किया है, जिन संगठनों में उन्होंने सेवा की है, उनके विकास और परिवर्तन में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

रोहित ऋषि की शैक्षणिक पृष्ठभूमि और बैंकिंग विशेषज्ञता

रोहित ऋषि के पास टेक्सटाइल्स में बी.टेक की डिग्री, वित्त में एमबीए और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स (सीएआईआईबी) के प्रमाणित एसोसिएट हैं। उनका अनुभव एमएसएमई, मिड-कॉर्पोरेट और कॉरपोरेट क्रेडिट पर मजबूत फोकस के साथ बैंकिंग के विभिन्न पहलुओं तक फैला हुआ है।

उनकी कुछ भूमिकाएँ निम्नलिखित हैं:

औद्योगिक विकास अधिकारी: उनके करियर की शुरुआत इस महत्वपूर्ण भूमिका से हुई, जहाँ उन्होंने भारतीय बैंकिंग क्षेत्र में मूल अनुभव प्राप्त किया।

एजीएम एमएसएमई/कॉर्पोरेट कार्यालय, चेन्नई: उनकी यात्रा उन्हें भारत के दक्षिणी हिस्से तक ले गई, जहां उन्होंने बैंक की वृद्धि और विकास में योगदान दिया।

नई दिल्ली में बैंक की प्रमुख शाखा के प्रमुख: प्रमुख की भूमिका निभाते हुए, रोहित ऋषि ने देश की राजधानी में बैंक की प्रमुख शाखा का प्रबंधन करके एक महत्वपूर्ण प्रभाव डाला।

डीजीएम (कॉर्पोरेट शाखा, नई दिल्ली): बैंकिंग क्षेत्र में उनकी प्रगति जारी रही और उन्होंने नई दिल्ली की कॉर्पोरेट शाखा में उप महाप्रबंधक के पद पर कार्य किया।

बेंगलुरु, मुंबई और दिल्ली में एफजीएम: रोहित ऋषि की विशेषज्ञता भारत के विभिन्न क्षेत्रों में फैली हुई है, जिसने विभिन्न प्रमुख शहरों में बैंक के संचालन और विकास में योगदान दिया है।

इलाहाबाद बैंक के इंडियन बैंक में समामेलन में भूमिका: एक महाप्रबंधक के रूप में, रोहित ऋषि ने इलाहाबाद बैंक के इंडियन बैंक में सफल समामेलन में सक्रिय भूमिका निभाई। इस प्रक्रिया के दौरान उनके योगदान ने उनके नेतृत्व और निर्णय लेने के कौशल को उजागर किया।

रोहित ऋषि का प्रभाव: बैंकिंग विनियमों में सुधार और वित्तीय समाधानों का नवप्रवर्तन

रोहित ऋषि की उल्लेखनीय उपलब्धि में उन नीतियों को आकार देने और क्रियान्वित करने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका शामिल है जो जटिल बैंकिंग नियमों को कुशलता से संबोधित करती हैं, एक स्थिर और सुरक्षित वित्तीय परिदृश्य सुनिश्चित करती हैं। उत्पाद नवाचार में उनकी दक्षता ने ग्राहकों की बढ़ती मांगों के अनुरूप अत्याधुनिक वित्तीय समाधान पेश किए हैं, जिससे संस्थानों को प्रतिस्पर्धी बने रहने और तेजी से विकसित हो रहे वित्तीय उद्योग के साथ जुड़ने में सक्षम बनाया गया है।

नेतृत्व और क्रेडिट प्रबंधन विशेषज्ञता

बैंक ऑफ महाराष्ट्र के भीतर, रोहित ऋषि ने क्रेडिट प्रबंधन और नेतृत्व कौशल में अपनी विशेषज्ञता के लिए प्रतिष्ठा हासिल की है। उन्हें प्रदर्शन-उन्मुख और उच्च-डिलीवरी टीमों को तैयार करने की उनकी क्षमता के लिए पहचाना जाता है। बैंकिंग क्षेत्र में उनकी यात्रा महत्वाकांक्षी पेशेवरों के लिए एक प्रेरणा और लगातार विकसित हो रहे वित्तीय उद्योग में समर्पण, सीखने और निरंतर विकास के मूल्य का एक प्रमाण है।

Find More Appointments Here

रोहित ऋषि की बैंक ऑफ महाराष्ट्र में कार्यकारी निदेशक के रूप में नियुक्ति |_30.1

FAQs

बैंक ऑफ महाराष्ट्र में हाल ही में नियुक्त कार्यकारी निदेशक कौन हैं?

रोहित ऋषि की नियुक्ति बैंक ऑफ महाराष्ट्र में कार्यकारी निदेशक के रूप में हुई है।