Home   »   महाराष्ट्र के नए राज्यपाल बने रमेश...

महाराष्ट्र के नए राज्यपाल बने रमेश बैस, भगत सिंह कोश्यारी का इस्तीफा मंजूर

महाराष्ट्र के नए राज्यपाल बने रमेश बैस, भगत सिंह कोश्यारी का इस्तीफा मंजूर |_30.1

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया है। उनकी जगह रमेश बैस को महाराष्ट्र का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी को साल 2019 में महाराष्ट्र का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया था। उससे पहले कोश्यारी नैनीताल के सांसद भी रह चुके हैं।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

रमेश बैस के बारे में

 

रमेश बैस अभी तक झारखंड के राज्यपाल थे। रमेश बैस का जन्म 2 अगस्त 1947 को अविभाजित मध्य प्रदेश के रायपुर में हुआ था। उन्होंने भोपाल से बीएससी की पढ़ाई की थी और काफी लंबे समय तक उन्होंने खेती-किसानी की। रमेश बैस जुलाई 2021 में झारखंड के राज्यपाल बने थे। इससे पहले, वह जुलाई 2019 से जुलाई 2021 तक त्रिपुरा के 18वें राज्यपाल भी रहे। 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के दूसरी बार सत्ता में लौटने के बाद बैस को त्रिपुरा के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था।

रमेश बैस ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत निकाय चुनावों से की थी। बैस पहली बार 1978 में रायपुर नगर निगम के सदस्य के रूप में चुने गए थे और फिर 1980 में मंदिर हसोद सीट से विधायक चुने गए थे, लेकिन 1985 में अगला चुनाव हार गए। इसके बाद उन्होने 1989 में रायपुर सीट से लोकसभा चुनाव जीता। रमेश बैस ने अटल बिहारी वाजपेयी के मंत्रिमंडल में केंद्रीय पर्यावरण और वन राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया था। वाजपेयी सरकार के दूसरे और तीसरे कार्यकाल में बैस ने वर्ष 2004 तक स्टील, खान, रसायन और उर्वरक, सूचना और प्रसारण विभागों को संभाला।

Find More State In News Here

महाराष्ट्र के नए राज्यपाल बने रमेश बैस, भगत सिंह कोश्यारी का इस्तीफा मंजूर |_40.1

 

FAQs

महाराष्ट्र के पहले राज्यपाल कौन है?

महाराष्ट्र राज्य के प्रथम राज्यपाल राजा महाराज सिंह थे जो 6 जनवरी 1948 से 30 मई 1952 तक राज्यपाल के पद पर आसीन थे.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *