Home   »   राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा: दुनिया का...

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा: दुनिया का सबसे बड़ा ताला, 1265 किलो का लड्डू प्रसाद अयोध्या पहुंचा

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा: दुनिया का सबसे बड़ा ताला, 1265 किलो का लड्डू प्रसाद अयोध्या पहुंचा |_30.1

अयोध्या में राम मंदिर अपने प्राण प्रतिष्ठा (प्रतिष्ठा) समारोह के लिए तैयार हो रहा है, उसे दो अद्वितीय प्रसाद मिले हैं: दुनिया का सबसे बड़ा ताला, जिसका वजन 400 किलोग्राम है, और एक विशाल 1,265 किलोग्राम का लड्डू प्रसाद।

 

दुनिया का सबसे बड़ा ताला

अलीगढ़ के 65 वर्षीय ताला बनाने वाले सत्य प्रकाश शर्मा द्वारा तैयार किया गया यह ताला कलात्मकता का एक उल्लेखनीय नमूना है। दस फीट लंबाई और साढ़े चार फीट चौड़ाई वाला यह ताला छह महीने में बनाया गया था। शर्मा, जिनका हाल ही में निधन हो गया था, ने इस ताले को अयोध्या राम मंदिर को उपहार में देने की इच्छा व्यक्त की थी। उनकी पत्नी रुक्मिणी शर्मा ने इसके निर्माण में सहायता की, जो अलीगढ़ के प्रसिद्ध ताला उद्योग का प्रतीक है। ताला, जो लोहे से बना है और इसमें दो चाबियाँ शामिल हैं, शहर के पारंपरिक शिल्प को अभूतपूर्व पैमाने पर प्रदर्शित करता है।

 

1265 किलो का लड्डू प्रसाद

भक्ति का एक उल्लेखनीय प्रदर्शन करते हुए, हैदराबाद में श्री राम कैटरिंग सर्विसेज के मालिक नागभूषणम रेड्डी ने विशाल लड्डू प्रसाद तैयार किया। रेड्डी ने अपने विश्वास से प्रेरित होकर, भक्ति के प्रतीक के रूप में अपने जीवन के प्रत्येक दिन के लिए 1 किलो लड्डू तैयार करने का संकल्प लिया था। इस विशाल लड्डू को तैयार करने में 25 लोगों ने तीन दिनों तक अथक परिश्रम किया। लड्डू को एक प्रशीतित कांच के बक्से में अयोध्या ले जाया गया, जिससे एक महीने तक इसका संरक्षण सुनिश्चित हुआ।

 

प्रसाद का महत्व

ये प्रसाद केवल भक्ति का प्रदर्शन नहीं हैं बल्कि भारत की सांस्कृतिक और कलात्मक विरासत का भी प्रतीक हैं। अलीगढ़ का ताला शहर की ताला बनाने की सदियों पुरानी शिल्प कौशल का प्रतिनिधित्व करता है, जबकि हैदराबाद का लड्डू क्षेत्र में प्रचलित पाक परंपराओं और भक्ति की भावना को दर्शाता है।

 

प्राण प्रतिष्ठा समारोह

22 जनवरी को होने वाला राम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा समारोह एक बहुप्रतीक्षित कार्यक्रम है, जो देश भर के भक्तों का ध्यान आकर्षित कर रहा है। उम्मीद है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अनुष्ठान करेंगे, जो मंदिर के इतिहास में एक महत्वपूर्ण क्षण होगा।

 

 

FAQs

अयोध्या क्यों प्रसिद्ध है?

अयोध्या को भगवान राम की नगरी कहा जाता है। मान्यता है कि यहां हनुमान जी सदैव वास करते हैं।