Home   »   राष्ट्रपति ने कोलकाता में ‘मेरा बंगाल,...

राष्ट्रपति ने कोलकाता में ‘मेरा बंगाल, व्यसन-मुक्त बंगाल’ अभियान शुरू किया

राष्ट्रपति ने कोलकाता में ‘मेरा बंगाल, व्यसन-मुक्त बंगाल’ अभियान शुरू किया_3.1

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने 17 अगस्त, 2023 को राजभवन, कोलकाता में ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा आयोजित ‘नशा मुक्त भारत अभियान’ के तहत ‘मेरा बंगाल, व्यसन मुक्त बंगाल’ अभियान का शुभारंभ किया। राष्ट्रपति ने इस अवसर पर कहा कि मादक द्रव्यों का दुरुपयोग समाज और देश के लिए चिंता का विषय है। इन व्यसनों के कारण युवा अपने जीवन में सही दिशा नहीं चुन पाते हैं। यह अत्यंत चिंताजनक है और इस मामले में सभी मोर्चों पर काम करने की आवश्यकता है।

राष्ट्रपति ने कहा कि इस स्थिति में आध्यात्मिक जागृति, चिकित्सा, सामाजिक एकजुटता और राजनीतिक इच्छाशक्ति के माध्यम से सुधार किया जा सकता है। उन्होंने ऐसे मुद्दों पर चर्चा करने और उनके समाधान की दिशा में काम करने के लिए ब्रह्माकुमारीज़ जैसे संगठनों की सराहना की। राष्ट्रपति ने कहा कि किसी भी प्रकार का व्यसन मानसिक तनाव और साथियों के दबाव के कारण विकसित होता है।

 

लत से निपटने के लिए समग्र दृष्टिकोण

राष्ट्रपति ने कहा कि नशे की लत स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। व्यसन से कई अन्य विकार भी उत्पन्न होते हैं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि लत अक्सर मानसिक तनाव और साथियों के दबाव से उत्पन्न होती है, जिसके परिणामस्वरूप इसमें शामिल व्यक्तियों और उनके परिवारों दोनों के लिए हानिकारक परिणाम होते हैं। उन्होंने इन महत्वपूर्ण मामलों पर चर्चा में शामिल होने और समाधान खोजने के लिए सक्रिय रूप से काम करने के लिए ब्रह्माकुमारीज़ जैसे संगठनों की भी सराहना की।

 

प्रमुख हस्तियों का समर्थन

इस कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सीवी आनंद बोस और राज्य की महिला एवं बाल विकास और सामाजिक कल्याण मंत्री शशि पांजा की उपस्थिति रही। राष्ट्रपति मुर्मू ने ‘नशा मुक्त भारत अभियान’ के हिस्से के रूप में ‘मेरा बंगाल, व्यसन मुक्त बंगाल’ पहल शुरू करने के लिए प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की सराहना की।

 

असामाजिक तत्व और बर्बाद क्षमता

राष्ट्रपति मुर्मू ने आपराधिक गतिविधियों के लिए असामाजिक तत्वों द्वारा नशीली दवाओं के उपयोग के प्रति आगाह किया। उन्होंने इस बात पर अफसोस जताया कि दवाओं की खरीद पर खर्च किए गए संसाधनों को उन गतिविधियों की ओर मोड़ दिया जाता है जो समाज के कल्याण को कमजोर करती हैं।

इसके अलावा, उन्होंने युवा पीढ़ी के बारे में अपनी चिंता व्यक्त की, उन्हें देश के सबसे बेशकीमती संसाधनों के रूप में वर्णित किया, और नशे की लत के कारण उनकी क्षमता की खतरनाक बर्बादी पर प्रकाश डाला।

इसके अतिरिक्त, उन्होंने सभी शैक्षणिक संस्थानों से छात्रों के बीच सही रास्ते से किसी भी विचलन की पहचान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का आग्रह किया। उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया कि राष्ट्र की उन्नति के लिए युवाओं की क्षमता का संरक्षण सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है।

 

प्रतियोगी परीक्षा के लिए मुख्य बातें

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल: सीवी आनंद बोस

 

Find More State In News Here

 

राष्ट्रपति ने कोलकाता में ‘मेरा बंगाल, व्यसन-मुक्त बंगाल’ अभियान शुरू किया_4.1

FAQs

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री कौन है?

पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamta Banerjee) है.