Home   »   राष्ट्रपति ने सुप्रीम कोर्ट में दो...

राष्ट्रपति ने सुप्रीम कोर्ट में दो नए न्यायाधीशों की नियुक्ति की

 

राष्ट्रपति ने सुप्रीम कोर्ट में दो नए न्यायाधीशों की नियुक्ति की |_30.1

तेलंगाना के मुख्य न्यायाधीश उज्जल भुइयां और केरल के मुख्य न्यायाधीश एस. वेंकटनारायण भट्टी को राष्ट्रपति द्वारा सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया है। ये नियुक्तियां भारत के मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाले सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम द्वारा सरकार को उनके नामों की सिफारिश करने के तुरंत बाद की गईं।

मुख्य बिंदु :

  • इन दो नई नियुक्तियों से शीर्ष अदालत में न्यायिक सदस्यों की संख्या बढ़कर 33 हो गई है और केवल एक पद रिक्त है। जस्टिस भुइयां को 17 अक्टूबर, 2011 को गुवाहाटी उच्च न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त किया गया था और वह पिछले साल 28 जून से तेलंगाना के मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यरत थे।
  • जस्टिस भट्टी को 12 अप्रैल, 2013 को आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त किया गया था। कॉलेजियम ने न्यायमूर्ति भट्टी की अपनी पसंद के बारे में बताते हुए कहा था कि आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय का अगस्त 2022 से सुप्रीम कोर्ट की पीठ में कोई प्रतिनिधित्व नहीं है।
  • जस्टिस भट्टी को मार्च 2019 में केरल उच्च न्यायालय में स्थानांतरित कर दिया गया था। वह एक जून, 2023 से वहां मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यरत थे।
  • कॉलेजियम ने कहा था कि जस्टिस भट्टी के फैसले कानून की विभिन्न शाखाओं से कई मुद्दों से निपटते हैं और ‘उनके कानूनी कौशल और क्षमता की गवाही देते हैं.’।

जस्टिस भट्टी का अनुभव

  • जस्टिस भट्टी को 12 अप्रैल, 2013 को आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया था और वह अपने मूल उच्च न्यायालय में सबसे वरिष्ठ हैं।
  • उन्हें मार्च 2019 में केरल उच्च न्यायालय में स्थानांतरित कर दिया गया था और वर्तमान में 1 जून, 2023 से वहां मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यरत हैं।

जस्टिस भुइयां का अनुभव

  • जस्टिस भुइयां वर्तमान में तेलंगाना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यरत हैं, जबकि जस्टिस भट्टी केरल उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश हैं।
  • जस्टिस भुइयां का मूल उच्च न्यायालय गुवाहाटी उच्च न्यायालय है।
  • उन्हें 17 अक्टूबर, 2011 को गुवाहाटी उच्च न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त किया गया था।
  • वह अपने मूल उच्च न्यायालय के वरिष्ठतम न्यायाधीश हैं और 28 जून, 2022 से तेलंगाना उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यरत हैं।

कॉलेजियम प्रणाली क्या है और यह कैसे विकसित हुई?

राष्ट्रपति ने सुप्रीम कोर्ट में दो नए न्यायाधीशों की नियुक्ति की |_40.1

सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम प्रणाली सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों की नियुक्ति और न्यायिक प्रणाली को समझने में बहुत महत्वपूर्ण विषयों में से एक है। यह न्यायाधीशों की नियुक्ति और स्थानांतरण की प्रणाली है जो सुप्रीम कोर्ट के निर्णयों के माध्यम से विकसित हुई है, न कि संसद के अधिनियम या संविधान के प्रावधान द्वारा।

कॉलेजियम प्रणाली का प्रमुख कौन है?

सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम प्रणाली की अध्यक्षता CJI (भारत के मुख्य न्यायाधीश) करते हैं और इसमें अदालत के चार अन्य वरिष्ठतम न्यायाधीश शामिल होते हैं। एक उच्च न्यायालय कॉलेजियम का नेतृत्व वर्तमान मुख्य न्यायाधीश और उस अदालत के दो अन्य वरिष्ठतम न्यायाधीश करते हैं। उच्च न्यायपालिका के न्यायाधीशों की नियुक्ति केवल कॉलेजियम प्रणाली के माध्यम से की जाती है और कॉलेजियम द्वारा नामों पर निर्णय लेने के बाद ही सरकार की भूमिका होती है।

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण बातें: 

  • भारत का सर्वोच्च न्यायालय मुख्यालय: नई दिल्ली;
  • भारत के सर्वोच्च न्यायालय की स्थापना: 26 जनवरी 1950

Find More Appointments Here

राष्ट्रपति ने सुप्रीम कोर्ट में दो नए न्यायाधीशों की नियुक्ति की |_50.1

FAQs

तेलंगाना की राजधानी क्या है ?

तेलंगाना की राजधानी है "हैदराबाद"।