Home   »   नासा का ऑल-इलेक्ट्रिक एक्स-57 विमान उड़ान...

नासा का ऑल-इलेक्ट्रिक एक्स-57 विमान उड़ान भरने की तैयारी में

नासा का ऑल-इलेक्ट्रिक एक्स-57 विमान उड़ान भरने की तैयारी में |_30.1

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का “ऑल-इलेक्ट्रिक” विमान एक्स-57 जल्द ही उड़ान भरने के लिए तैयार है। विमान के पंखों के साथ 14 प्रोपेलर हैं और यह पूरी तरह से बिजली से संचालित होता है। हाल ही में, नासा के एक्स-57 मैक्सवेल ने अपने क्रूज मोटर नियंत्रकों का सफल थर्मल परीक्षण किया। थर्मल परीक्षण महत्वपूर्ण है क्योंकि यह विमान नियंत्रकों के डिजाइन, संचालन क्षमता और कारीगरी की गुणवत्ता को मान्य करता है। नियंत्रकों के तापमान-संवेदनशील हिस्से होते हैं और उड़ान के दौरान चरम स्थितियों का सामना करने में सक्षम होना चाहिए।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

नासा के “ऑल-इलेक्ट्रिक” विमान X-57 के बारे में

 

  • X-57 अपने प्रणोदकों के लिए इलेक्ट्रिक मोटर्स चलाने के लिए लिथियम बैटरी का उपयोग करता है।
  • क्रूज मोटर नियंत्रक विमान की लिथियम-आयन बैटरी में संग्रहीत ऊर्जा को विमान की मोटरों को शक्ति प्रदान करने के लिए परिवर्तित करते हैं। हालांकि, लिथियम-आयन बैटरी की ऊर्जा विमानन ईंधन से 50 गुना कम है।
  • उच्च-शक्ति टेक-ऑफ और क्रूज के दौरान 98% दक्षता प्रदान करने के लिए नियंत्रक सिलिकॉन कार्बाइड ट्रांजिस्टर का उपयोग करते हैं, जिसका अर्थ है कि वे अत्यधिक गर्मी उत्पन्न नहीं करते हैं और मोटर के माध्यम से बहने वाली हवा से ठंडा हो सकते हैं।
  • नासा के अनुसार, एक्स-57 प्रोजेक्ट का मुख्य लक्ष्य तेजी से उभर रहे इलेक्टिक एयरक्राफ्ट बाजारों के मानक तय करना है।
  • अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का एक्स-57 विमान कई मायनों में खास हैं। इसमें रिचार्ज हो सकने वाली लिथियम-आयन बैट्री का इस्तेमाल किया है। इसके अलावा वायु प्रवाह बढ़ाने के लिए विमान के पंखों के आसपास दर्जनों मोटर भी लगाएं गए हैं।

 

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

 

  • नासा मुख्यालय: वाशिंगटन, डी.सी., संयुक्त राज्य अमेरिका;
  • नासा की स्थापना: 29 जुलाई 1958, संयुक्त राज्य अमेरिका;
  • नासा के संस्थापक: ड्वाइट डी. आइजनहावर।
नासा का ऑल-इलेक्ट्रिक एक्स-57 विमान उड़ान भरने की तैयारी में |_40.1

 

FAQs

भारतीय वायु सेना के पास कितने लड़ाकू विमान हैं?

भारतीय वायु सेना के पास क़रीब 600 लड़ाकू विमान हैं.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *