Home   »   जलवायु कार्यकर्ता वैनेसा नाकाटे को यूनिसेफ का सद्भावना राजदूत नियुक्त किया गया   »   Green Bond लाने वाला पहला नगर...

Green Bond लाने वाला पहला नगर निकाय बना इंदौर

Green Bond लाने वाला पहला नगर निकाय बना इंदौर |_50.1

इंदौर नगर निगम हरित बॉन्ड जारी करने वाला देश का पहला शहरी निकाय बन गया है। इस बॉन्ड के जरिये निगम की 244 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। इंदौर नगर निगम का बॉन्ड 10 फरवरी को खुलेगा और 14 फरवरी को बंद होगा। इसे नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर सूचीबद्ध किया जाएगा। लॉन्च होने के बाद चौथे सप्ताह में बॉन्ड के एनएसई में लिस्टेड होने की संभावना है।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

इस राशि का इस्तेमाल 60 मेगावॉट क्षमता वाला सौर संयंत्र लगाने के लिए किया जाएगा। यह संयंत्र इंदौर के वाटर पंप स्टेशन पर लगाया जाएगा। शहर को अधिक साफ-सुथरा बनाने और संसाधनों की बचत के लिए पंपिंग स्टेशन पर सौर संयंत्र लगाने की योजना है। इस पर करीब 305 करोड़ रुपये का निवेश होगा। सौर संयंत्र बन जाने पर पांच-छह करोड़ रुपये का बिजली बिल बचेगा। इंदौर नगर निगम शहर में पेयजल आपूर्ति के लिए जलूद से पानी पंपिंग करता है। इसके लिए हर महीने बिजली बिल पर 25 करोड़ रुपये खर्च होते हैं।

 

ग्रीन बॉन्ड से क्या तात्पर्य है?

 

ग्रीन बॉन्ड एक ऋण सुरक्षा है जो किसी संगठन द्वारा उन परियोजनाओं के वित्तपोषण या पुनर्वित्त के उद्देश्य से जारी किया जाता है जो पर्यावरण और/या जलवायु में सकारात्मक योगदान देते हैं। ग्रीन बॉण्ड ऋण प्राप्ति का एक साधन है जिसके माध्यम से ग्रीन ’परियोजनाओं के लिये धन जुटाया जाता है, यह मुख्यतः नवीकरणीय ऊर्जा, स्वच्छ परिवहन, स्थायी जल प्रबंधन आदि से संबंधित होता है।

Find More Miscellaneous News Here

 

Green Bond लाने वाला पहला नगर निकाय बना इंदौर |_60.1

FAQs

विश्व बैंक ने अपना पहला ग्रीन बॉन्ड कब जारी किया था?

विश्व बैंक ने अपना पहला ग्रीन बॉन्ड 2008 में जारी किया था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *