Home   »   जगन्नाथ पुरी रथ महोत्सव का शुभारम्भ

जगन्नाथ पुरी रथ महोत्सव का शुभारम्भ

जगन्नाथ पुरी रथ महोत्सव का शुभारम्भ |_50.1
ओडिशा के, पुरी में सबसे बड़े वार्षिक त्योहार रथ यात्रा या रथ महोत्सव का शुभारम्भ आज से हुआ. यह देश के सबसे मशहूर हिंदू त्योहारों में से एक एक है. यह प्रसिद्ध त्योहार जिसे आमतौर पर जून-जुलाई महीने में मनाया जाता है, तब शुरू होता है जब भगवान जगन्नाथ अपने रथ पर अपने बड़े भाई बालभद्र और बहन देवी सुभद्रा के साथ पुरी की मुख्य सड़क पर लाए जाते हैं. 

रथ को तब श्री गुंडीचा मंदिर के पास अपनी चाची के घर ले जाया जाता है, जहां भगवान नौ दिन वास करते हैं और मिठाई पैनकेक्स का भोग लगाते है. यह त्योहार भगवान जगन्नाथ के अपने भाई-बहनों के साथ रानी गुन्दिचा के मंदिर की यात्रा के उपलक्ष्य में मनाया जाता है. जगन्नाथ पुरी मंदिर को ‘यमनिक तीर्थ’ कहा जाता है, जहां हिंदू मान्यताओं के अनुसार, ‘यम’ की शक्ति, मृत्यु के देवता की शक्ति भगवान जगन्नाथ की उपस्थिति के कारण निरस्त हो गयी थी, जिन्हें भगवान कृष्ण के नाम से भी जाना जाता है वह अपने भाई-बहन भगवान बलभद्र और देवी सुभद्रा के साथ जगन्नाथ पुरी मंदिर में वास करते है.
उपरोक्त समाचार से महत्वपूर्ण तथ्य:
  • रथ यात्रा या रथ महोत्सव, बहु-प्रतीक्षित हिंदू त्योहारों में से एक है, जोकि हर वर्ष आषाढ़ के महीने में शुक्ल-पक्ष के दूसरे दिन मनाया जता है, भारतीय कैलेंडर के अनुसार तीसरे महीने में. 
  • इस त्यौहार के लिए सबसे महत्वपूर्ण केंद्र जगन्नाथ पुरी मंदिर है, जो चार प्रमुख हिंदू मंदिरों में से एक है, जो ओडिशा राज्य में स्थित है।
  • भुवनेश्वर को भारत में “मंदिरों का शहर” के रूप में जाना जाता है
  • नवीन पटनायक ओडिशा के वर्तमान मुख्यमंत्री हैं.
  • डॉ सेनयंगबा चुबुतोशी जमीर ओडिशा के वर्तमान गवर्नर हैं. 
  • भुवनेश्वर, ओडिशा की राजधानी है. 
  • भितरकणिका राष्ट्रीय उद्यान पूर्वी भारत में ओडिशा में एक राष्ट्रीय उद्यान है.
स्त्रोत- AIR News
Thank You, Your details have been submitted we will get back to you.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *