Home   »   इसरो के लिए स्पेसफ्लाइट प्रशिक्षण मॉड्यूल...

इसरो के लिए स्पेसफ्लाइट प्रशिक्षण मॉड्यूल विकसित करेगा आईआईटी-एम

इसरो के लिए स्पेसफ्लाइट प्रशिक्षण मॉड्यूल विकसित करेगा आईआईटी-एम |_30.1

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-मद्रास (आईआईटी-एम) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के लिए संवर्धित,आभासी और मिश्रित वास्तविकता (एआर/वीआर/एमआर) का उपयोग करके भारतीय अंतरिक्ष उड़ान कार्यक्रम के लिए प्रशिक्षण मॉड्यूल विकसित करेगा। आईआईटी-मद्रास के अधिकारियों ने कहा कि इस संबंध में हाल ही में दोनों संस्थानों के बीच एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं, जिसके तहत इसरो विस्तारित क्षेत्र में अनुसंधान और विकास (आरएंडडी) को बढ़ावा देने के लिए आईआईटी-एम में नव-स्थापित ई-एक्सपेरिमेंटल टेक्नोलॉजी इनोवेशन सेंटर (एक्सटीआईसी) में बनाई गई उन्नत तकनीकों का उपयोग करेगा।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

भारतीय मानव अंतरिक्ष उड़ान कार्यक्रम में विस्तारित वास्तविकता (एक्सआर) और अन्य प्रौद्योगिकियों के अनुप्रयोग पर सहयोग के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। एक्सटीआईसी न केवल मानव अंतरिक्ष उड़ान कार्यक्रम के लिए एक्सआर तकनीकों का विकास करेगा, बल्कि इस तकनीक पर संबंधित एचएसएफसी इंजीनियरों को प्रशिक्षण भी देगा। साथ ही एचएसएफसी में एक्सआर-वीआर प्रयोगशाला स्थापित करने में मदद करेगा।

 

इसरो के मानव अंतरिक्ष उड़ान केंद्र (एचएसएफसी) के निदेशक डॉ. उमामहेश्वरन आर. ने कहा कि एक्सटीआईसी न केवल मानव अंतरिक्ष उड़ान कार्यक्रम के लिए एक्सआर प्रौद्योगिकियों का विकास करेगा बल्कि इस तकनीक पर संबंधित एचएसएफसी इंजीनियरों को प्रशिक्षण भी देगा और एक्सआर/वीआर प्रयोगशाला स्थापित करने में मदद करेगा। आईआईटी मद्रास का पारिस्थितिकी तंत्र न केवल अनुसंधान के लिए बल्कि हमारे औद्योगिक संघ के साथ विकास के लिए भी अनुकूल है।

 

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य:

 

  • इसरो अध्यक्ष: एस. सोमनाथ;
  • इसरो की स्थापना तिथि: 15 अगस्त, 1969;
  • ISRO के संस्थापक: डॉ. विक्रम साराभाई।

More Sci-Tech News Here

 

इसरो के लिए स्पेसफ्लाइट प्रशिक्षण मॉड्यूल विकसित करेगा आईआईटी-एम |_40.1

FAQs

नासा का मुख्यालय कहां है?

वाशिंगटन डी.सी.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *