Home   »   असम में आ रहा है भारत...

असम में आ रहा है भारत का पहला अंतर्राष्ट्रीय मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क: जोगीघोपा

असम में आ रहा है भारत का पहला अंतर्राष्ट्रीय मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क: जोगीघोपा_3.1

असम के जोगीघोपा में भारत के पहले अंतर्राष्ट्रीय मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क का निर्माण अच्छी तरह से चल रहा है, और जेटी के इस साल के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। 693.97 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जा रहा यह पार्क जलमार्ग, सड़क, रेल और वायु से सीधा संपर्क प्रदान करेगा और इसके 2023 में पूरा होने की उम्मीद है।केन्द्रीय बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग तथा आयुष मंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल ने प्रगति की समीक्षा करने के लिए हाल ही में स्थल का दौरा किया और कार्य की गति पर संतोष व्यक्त किया।

India's first MultiModal Logistics Park (MMLP) Daily Current Affairs @ abhipedia Powered by ABHIMANU IAS

इस परियोजना का उद्देश्य भूटान और बांग्लादेश जैसे पड़ोसी देशों सहित भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र में परिवहन नेटवर्क को पुनर्जीवित करना है। पीएम गति शक्ति राष्ट्रीय मास्टर प्लान इस दृष्टि का एक प्रमुख घटक है, जिसका उद्देश्य परिवहन प्रणाली को पुनर्जीवित और फिर से जीवंत करना और इसे परिवर्तन का एक कुशल और प्रभावी एजेंट बनाना है।

Logistics hub to turn Assam's Jogighopa into India's new gateway to South-East Asia | Mint

अंतर्राष्ट्रीय मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क सरकार की महत्वाकांक्षी भारतमाला परियोजना के तहत विकसित किया जा रहा है, और यह अपनी तरह की पहली ऐसी परियोजना है। पार्क का निर्माण असम के जोगीघोपा में एनएचआईडीसीएल द्वारा किया जा रहा है, और इसे सड़क, रेल, वायु और जलमार्ग से जोड़ा जाएगा। ब्रह्मपुत्र नदी के किनारे 317 एकड़ जमीन पर फैले इस पार्क में गोदाम, रेलवे साइडिंग, कोल्ड स्टोरेज, कस्टम क्लीयरेंस हाउस, यार्ड सुविधा, वर्कशॉप, पेट्रोल पंप, ट्रक पार्किंग, प्रशासनिक भवन, बोर्डिंग लॉजिंग, ईटिंग जॉइंट्स और वाटर ट्रीटमेंट प्लांट जैसी सभी जरूरी सुविधाएं होंगी।

क्षेत्र में कनेक्टिविटी में सुधार के लिए, जोगीघोपा और गुवाहाटी के बीच 154 किलोमीटर की दूरी पर 4-लेन सड़क बनाई जाएगी। 3 किलोमीटर की रेल लाइन जोगीघोपा स्टेशन को एमएमएलपी से जोड़ेगी, जबकि एक और 3 किलोमीटर का रेल लिंक इसे आईडब्ल्यूटी से जोड़ेगा। नव विकसित रूपसी हवाई अड्डे की सड़क को भी आसान कनेक्टिविटी के लिए 4-लेन में अपग्रेड किया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय मल्टीमॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क के निर्माण से भूटान और बांग्लादेश जैसे पड़ोसी देशों सहित भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए बड़ी संभावनाएं खुलने की संभावना है। पार्क न केवल माल के तेजी से और अधिक कुशल परिवहन की सुविधा प्रदान करेगा, बल्कि रोजगार के अवसर भी पैदा करेगा और इस क्षेत्र में आर्थिक विकास को बढ़ावा देगा। इस परियोजना की सफलता सभी हितधारकों के सहयोग पर निर्भर करेगी, और सरकार ने सभी से इस अद्भुत पहल में शामिल होने और इसे एक बड़ी सफलता बनाने का आह्वान किया है।

Find More State In News Here

Assam Grants Industry Status to Its Tourism Sector_70.1

FAQs

केन्द्रीय बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग तथा आयुष मंत्री कौन हैं ?

केन्द्रीय बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग तथा आयुष मंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल है।