Home   »   भारतीय राष्ट्रपति ने 5वें मेघालय खेलों...

भारतीय राष्ट्रपति ने 5वें मेघालय खेलों का उद्घाटन किया

भारतीय राष्ट्रपति ने 5वें मेघालय खेलों का उद्घाटन किया |_30.1

15 जनवरी, 2024 को भारत की राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ने मेघालय के तुरा में मेघालय खेलों के 5वें संस्करण का उद्घाटन किया। अपने संबोधन में, राष्ट्रपति ने मजबूत खेल संस्कृति की समृद्ध परंपरा का हवाला देते हुए, उत्तर पूर्व क्षेत्र में खेल और खिलाड़ियों के विकास की जबरदस्त संभावनाओं पर प्रकाश डाला।

 

मेघालय खेलों के 5वें संस्करण ने तुरा में नई राहें खोलीं

मेघालय खेलों की 5वीं किस्त कई मोर्चों पर ऐतिहासिक महत्व रखती है। विशेष रूप से, यह तुरा में आयोजित होने के उद्घाटन अवसर का प्रतीक है, जो शिलांग में इसके पिछले विशेष स्थान से अलग है। इसके अतिरिक्त, यह संस्करण पारंपरिक स्वदेशी खेलों को अपने लाइनअप में पेश करता है, और यह पहला उदाहरण है जहां उद्घाटन भारत के राष्ट्रपति द्वारा किया जाता है।

 

वैश्विक मान्यता के लिए विविधता का दोहन

श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ने भारत की सुंदरता को परिभाषित करने वाली विविधता पर जोर दिया और खेल क्षेत्र में देश की वैश्विक छवि को बढ़ाने के लिए इसके उपयोग का आह्वान किया। उन्होंने विशेष रूप से आदिवासी क्षेत्रों की प्रतिभाओं को पेशेवर खिलाड़ी बनने की उनकी क्षमता को पहचानते हुए समर्थन देने और तैयार करने की आवश्यकता पर बल दिया।

 

खेलों में महिलाओं को सशक्त बनाना

राष्ट्रपति ने उत्तर पूर्व समाज द्वारा खेलों में महिलाओं को प्रोत्साहन देने पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि इस क्षेत्र ने कई महान महिला एथलीट पैदा की हैं। खेलों में महिलाओं की भागीदारी का यह समर्थन लैंगिक समानता और सशक्तिकरण के लिए व्यापक प्रयास के अनुरूप है।

 

साहसिक खेल और पर्यटन की संभावनाएँ

उत्तर पूर्व में साहसिक खेलों और साहसिक पर्यटन की क्षमता को पहचानते हुए, राष्ट्रपति ने इन गतिविधियों की खोज और प्राथमिकता देने का आग्रह किया। यह स्वीकृति न केवल खेलों को बढ़ावा देती है बल्कि क्षेत्र की अनूठी पेशकशों को भी उजागर करती है, जिससे संभावित रूप से पर्यटन को बढ़ावा मिलता है।

 

भारत की खेल प्रगति और सरकारी पहल

श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ने भारत की विकसित हो रही खेल संस्कृति की सराहना की और इसका श्रेय सरकार की पहल और एथलीटों के लिए बढ़ते समर्थन को दिया। उन्होंने खेलो इंडिया जैसे सफल कार्यक्रमों की ओर इशारा किया, जो भविष्य के खेल चैंपियनों की पहचान करता है और उनका पोषण करता है। राष्ट्रपति ने वैश्विक मंच पर देश की शक्ति का प्रदर्शन करते हुए बड़े पैमाने पर अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों की मेजबानी करने की भारत की क्षमता पर प्रकाश डाला।

 

युवा भागीदारी को प्रोत्साहित करना

राष्ट्रपति ने अपने संबोधन में कम से कम एक खेल को अपनाने के महत्व पर जोर देते हुए बच्चों और युवाओं से खेल गतिविधियों में शामिल होने का आग्रह किया। खेल को पेशेवर रूप से अपनाने के बावजूद, उन्होंने एक साथ खेलने के लाभों पर प्रकाश डाला – टीम भावना, प्रतिस्पर्धात्मकता पैदा करना और शारीरिक और मानसिक फिटनेस में योगदान देना।

 

क्षेत्रीय खेलों के माध्यम से व्यापक पहुंच

राज्य के विभिन्न हिस्सों में मेघालय खेलों जैसे खेल आयोजन आयोजित करने के सरकार के फैसले की सराहना करते हुए राष्ट्रपति का मानना है कि इससे जनता के बीच व्यापक पहुंच सुनिश्चित होगी। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि इस तरह के आयोजन एथलीटों को उत्कृष्टता के लिए प्रेरित करेंगे, प्रतिस्पर्धात्मकता को बढ़ावा देंगे और क्षेत्र में एक जीवंत खेल पारिस्थितिकी तंत्र बनाने में योगदान देंगे।

 

भारतीय राष्ट्रपति ने 5वें मेघालय खेलों का उद्घाटन किया |_40.1

FAQs

मेघालय की राजधानी कहां है?

मेघालय की राजधानी शिलांग है।