Home   »   भारतीय सेना दिवस 2024: इतिहास और...

भारतीय सेना दिवस 2024: इतिहास और महत्व

भारतीय सेना दिवस 2024: इतिहास और महत्व |_30.1

हर साल 15 जनवरी के दिन भारतीय सेना दिवस मनाया जाता है। भारतीय सेना एक पेशेवर सेना है, जो देश की सुरक्षा को लेकर हमेशा प्रतिबद्ध रहती है। युद्ध लड़ना हो, देश में किसी बड़ी त्रासदी आने के बाद रेस्क्यू करना हो या आपात स्थिति में जल्द से जल्द जरूरतमंद लोगों के पास मदद पहुंचानी हो, हमारे भारतीय जवान हर जगह मुस्तैदी के साथ काम करते हैं।

 

भारतीय सेना दिवस 2024 थीम

2024 में भारतीय सेना दिवस की थीम “राष्ट्र की सेवा में” है। इसका मतलब यह है कि भारतीय सेना हमारे देश की सेवा और सुरक्षा के लिए हमेशा तैयार रहती है।

 

इस दिन क्या है खास?

इस खास दिन देशभर के सभी सेना मुख्यालयों और राष्ट्रीय राजधानी में सेना परेड का आयोजन किया जाता है। ये परेड सैनिकों के अनुशासन, शौर्य और देशभक्ति का शानदार प्रदर्शन होता है। सेना दिवस के मुख्य समारोह का आयोजन दिल्ली छावनी के करियप्पा परेड ग्राउंड में होती है। यहां भारतीय सेना प्रमुख परेड की सलामी लेते हैं, जो एक सम्मानजनक परंपरा है। इसके अलावा, विभिन्न सैन्य प्रदर्शन, सांस्कृतिक कार्यक्रमों और रक्षा उपकरणों के प्रदर्शन के जरिए भी सेना दिवस मनाया जाता है। यह दिन हमें याद दिलाता है कि कैसे 1949 में फील्ड मार्शल के.एम. करिअप्पा भारत के पहले स्वतंत्र सेना प्रमुख बने, जिससे एक नए युग की शुरुआत हुई।

 

सेना दिवस का महत्व

सेना दिवस सभी सेना कमान मुख्यालयों में मनाया जाता है। इस दिन भारतीय सेना के उन सैनिकों को सम्मानित किया जाता है, जिन्होंने निस्वार्थ भाव से देश की सेवा की और भाईचारे की सबसे बड़ी मिसाल कायम की। सलामी उन सभी बहादुर सेनानियों को दी जाती है जिन्होंने मातृभूमि की रक्षा और राष्ट्र की अखंडता को बनाए रखने के लिए अपना सब कुछ त्याग दिया है।

 

 

FAQs

विश्व पर्यावरण दिवस कब मनाया जाता है?

विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) पर्यावरण की सुरक्षा और संरक्षण हेतु पूरे विश्व में 5 जून को मनाया जाता है।