Home   »   सरकार ने किफायती गेहूं के आटे...

सरकार ने किफायती गेहूं के आटे के लिए ‘भारत आटा’ पहल शुरू की

सरकार ने किफायती गेहूं के आटे के लिए 'भारत आटा' पहल शुरू की |_30.1

केंद्र सरकार ने आम आदमी को महंगाई से एक बड़ी राहत देते हुए ‘भारत आटा’ (Bharat Atta) लॉन्च कर दिया है। भारत आटा ब्रांड नाम से देशभर में 27.50 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से गेंहू के आटे की औपचारिक बिक्री शुरू कर दी है। Bharat Atta सहकारी समितियों NAFED, NCCF और केंद्रीय भंडार के माध्यम से देशभर में 800 मोबाइल वैन और 2,000 से अधिक दुकानों के माध्यम से बेचा जाएगा। क्वालिटी और लोकेशन के आधार पर सब्सिडी वाली दर मौजूदा बाजार दर 36-70 रुपये प्रति किलोग्राम से कम है।

फरवरी में, सरकार ने मूल्य स्थिरीकरण कोष योजना के तहत कुछ दुकानों में इन सहकारी समितियों के माध्यम से 29.50 रुपये प्रति किलोग्राम पर 18,000 टन ‘भारत आटा’ की प्रायोगिक बिक्री की थी। केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने कर्तव्य पथ पर ‘भारत आटा’ की 100 मोबाइल वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना करते हुए कहा कि अब जब हमने परीक्षण कर लिया है और सफल रहे हैं, तो हमने एक औपचारिकता पूरी करने का फैसला किया है ताकि देश में हर जगह आटा 27.50 रुपये प्रति किलो की दर पर उपलब्ध हो।

 

ऐसे खरीद सकेंगे भारत आटा

भारत आटा खरीदने के लिए, आपको किसी भी मोबाइल वैन या दुकान पर जाना होगा। वहां आपको अपना राशन कार्ड दिखाना होगा। राशन कार्ड दिखाने के बाद, आप आटे को खरीद सकते हैं। भारत आटा की बिक्री को बढ़ाने के लिए सरकार ने 800 से अधिक मोबाइल वैन और 2,000 से ज़्यादा दुकानों का इस्तेमाल किया है। इस पहल का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि आबादी का एक बड़ा हिस्सा इसका फायदा उठा सके।

 

प्याज और दाल के मामले में भी महत्वपूर्ण कदम

सरकार ने प्याज और दाल के मामले में भी महत्वपूर्ण कदम उठाया है। प्याज की महंगाई के समय उपभोक्ताओं को राहत पहुंचाने के लिए सरकार 25 रुपये प्रति किलोग्राम के रेट पर प्याज बेच रही है। नेशनल कोऑपरेटिव कंज्यूमर्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (NCCF) और नेशनल एग्रीकल्चरल कोऑपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (NAFED) प्याज को सब्सिडाइज्ड रेट पर बेच रहे हैं। इसके अलावा सरकार ने भारत दाल (चने की दाल) को 60 रुपये प्रति किलोग्राम की कीमत पर उपलब्ध कराने का भी कदम उठाया है।

 

Find More National News Here

सरकार ने किफायती गेहूं के आटे के लिए 'भारत आटा' पहल शुरू की |_40.1

 

FAQs

प्रधानमंत्री जन धन योजना (PMJDY) की शुरुआत किसने की?

प्रधानमंत्री जन धन योजना की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त 2014 को लाल किले की प्राचीर से की थी और इसे 28 अगस्त 2014 को शुरू किया गया था।