Home   »   असम में पूर्वोत्तर की पहली ‘वंदे...

असम में पूर्वोत्तर की पहली ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ को हरी झंडी दिखाएंगे PM मोदी

असम में पूर्वोत्तर की पहली 'वंदे भारत एक्सप्रेस' को हरी झंडी दिखाएंगे PM मोदी |_50.1

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 मई 2023 को असम की पहली ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। इस अवसर पर वह न्यू इलेक्ट्रिफाइड सेक्शन को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। साथ ही नवनिर्मित डेमू और एमईएमयू शेड का उद्घाटन भी करेंगे। पीएमओ ने कहा कि अत्याधुनिक वंदे भारत एक्सप्रेस क्षेत्र के लोगों को गति और आराम के साथ यात्रा करने का साधन प्रदान करेगी‌ और इससे क्षेत्र में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।

साढ़े 5 घंटे का सफर

गुवाहाटी को न्यू जलपाईगुड़ी से जोड़ने वाली यह ट्रेन दोनों स्थानों को जोड़ने वाली वर्तमान में चलने वाली सबसे तेज ट्रेन की तुलना में यात्रा के समय में लगभग एक घंटे की बचत करने में मदद करेगी। वंदे भारत यात्रा को 5 घंटे 30 मिनट में तय करेगी, जबकि वर्तमान सबसे तेज़ ट्रेन उसी यात्रा को तय करने में 6 घंटे 30 मिनट का समय लेती है। प्रधानमंत्री 182 किलोमीटर लंबे मार्ग के नए विद्युतीकृत खंडों को भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इससे यात्रा में लगने वाले समय को कम करने के साथ प्रदूषण मुक्त परिवहन प्रदान करने में भी मदद मिलेगी।

 

छह दिन संचालित होगी ट्रेन

वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन सेवा सप्ताह में छह दिन संचालित होगी और यह इस क्षेत्र की सबसे तेज ट्रेन होगी और इससे आईटी पेशेवरों, कारोबारियों, छात्रों और पर्यटकों को फायदा होगा। इससे यात्रा में लगने वाले समय को कम करने के साथ प्रदूषण मुक्त परिवहन प्रदान करने में भी मदद मिलेगी। बता दें कि यह पूर्वोत्तर की पहली और पश्चिम बंगाल की तीसरी वंदे भारत ट्रेन होगी। इस ट्रेन का ट्रायल रन रविवार, 21 मई 2023 न्यू जलपाईगुड़ी से गुवाहाटी के बीच हुआ था। न्यू जलपाईगुड़ी से चलने वाली यह दूसरी वंदे भारत ट्रेन है। इससे पहले न्यू जलपाईगुड़ी से हावड़ा के लिए एक वंदे भारत चलाई गई थी।

Find More National News Here

असम में पूर्वोत्तर की पहली 'वंदे भारत एक्सप्रेस' को हरी झंडी दिखाएंगे PM मोदी |_60.1

 

 

FAQs

वंदे भारत ट्रेन की क्या खासियत है?

वंदे भारत ट्रेन ( Vande Bharat Express Train) भारत की सबसे तेज दौड़ने वाली ट्रेन है. यह ट्रेन महज 52 सेकेंड में 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ लेती है. सभी वंदे भारत ट्रेन पूरी तरह से वातानुकूलित हैं और उनमें स्वचालित दरवाजे हैं.