Home   »   दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के...

दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सीएम केजरीवाल ने जारी किया 15 प्वाइंट का विंटर एक्शन प्लान

दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सीएम केजरीवाल ने जारी किया 15 प्वाइंट का विंटर एक्शन प्लान_3.1

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने सर्दी के मौसम में दिल्ली में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए 29 सितंबर 2023 को 15 सूत्रीय विंटर एक्शन प्लान की घोषणा की। दिल्ली सरकार ने कहा इस प्लान को सख्ती से लागू किया जाएगा, ताकि ठंड के मौसम में दिल्ली वालों को प्रदूषण की समस्या से बचाया जा सके। सीएम केजरीवाल ने कहा कि इस बार दिल्ली के 5 हजार एकड़ से अधिक खेतों में बायो डी-कंपोजर का निःशुल्क छिड़काव किया जाएगा।

इस दौरान दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ सालों में दिल्लीवासियों की मेहनत से प्रदूषण के स्तर में करीब 30 फीसद की कमी आई है। प्रदूषण के खिलाफ इस जंग में एक बार फिर से दिल्ली तैयार है। इसके लिए दिल्ली सरकार का विंटर एक्शन प्लान भी तैयार है। सीएम ने बताया कि विंटर एक्शन प्लान के तहत दिल्ली में चिंहित 13 हॉटस्पॉट के लिए अलग-अलग एक्शन प्लान बनाया गया है।

 

वायु गुणवत्ता मेट्रिक्स में सुधार

सीएम अरविंद केजरीवाल ने आंकड़ों के जरिए बताया कि 2014 में दिल्ली में पार्टिकुलेट मैटर (पीएम)- 2.5 149 होता था, जबकि आज ये 103 है. इसी तरह 2014 में पीएम-10 324 होता था, आज ये 223 है। साल 2016 में प्रदूषण के हिसाब से 365 दिनों में 109 दिन अच्छी हवा होती थी, आज यह संख्या बढ़कर 163 हो गई है।

 

सार्वजनिक परिवहन को बढ़ाना

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले दो-तीन सालों में हम लोगों ने बहुत बड़े स्तर पर बसें खरीदी हैं, जिसमें इलेक्ट्रिक बसें भी हैं। वर्तमान में दिल्ली में आजतक के इतिहास में सबसे ज्यादा 7135 बसें सड़कों पर हैं। पहले कभी भी दिल्ली में इतनी बसें नहीं थीं। इसमें से 800 इलेक्ट्रिक बसें हैं।

 

हरियाली और वृक्ष परिवहन

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जैसे-जैसे विकास होता है, वैसे-वैसे पेड़ कटते हैं, सड़कें और बिल्डिंग बनती हैं। अलग-अलग शहरों में देखा गया है कि जैसे-जैसे विकास होता है, वहां हरित क्षेत्र में कमी आती है, लेकिन दिल्ली में उल्टा हो रहा है। दिल्ली में 2013 में 20 फीसद हरित क्षेत्र था, जो अब बढ़कर 23 फीसद हो गया हैं। हरित क्षेत्र कम होने की बजाय 3 फीसदा तक बढ़ा है।

 

स्वच्छ ऊर्जा और विद्युत आपूर्ति

सीएम केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली में 24 घंटे बिजली आती है और अब जेनरेटर के इस्तेमाल की जरूरत नहीं पड़ती है।

 

विंटर एक्शन प्लान के तहत 13 हॉटस्पॉट के लिए विशेष योजना

सीएम अरविंद केजरीवाल ने 15 सूत्रीय विंटर एक्शन प्लान की जानकारी देते हुए कहा कि हमने दिल्ली के अंदर 13 हॉटस्पॉट चिंहित किए हैं, जहां ज्यादा प्रदूषण होता है। हर हॉटस्पॉट के लिए अलग-अलग एक्शन प्लान बनाया गया है। इसके लिए एक वॉर रूम बनाया गया है। 13 विशेष टीमें बनाई गई हैं. इन सभी हॉट स्पाट की सघन निगरानी ग्रीन वार रूम से की जाएगी।

 

पराली जलाना कम करना

सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि पिछले तीन वर्षों से हमने दिल्ली के खेतों में पराली गलाने के लिए बायो-डी-कंपोजर का मुफ्त में सफलता पूर्वक छिड़काव किया है, जिसके नतीजे काफी अच्छे आए हैं। पिछले साल हमने 4400 एकड़ खेत में बायो डीकंपोजर का छिड़काव किया था।

 

निर्माण विनियम

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि धूल प्रदूषण को कम करने के लिए कई सारे कदम उठाए गए हैं. निर्माण साइट्स पर निगरानी रखने के लिए कई टीमें बनाई गई हैं। 500 वर्गमीटर से ज्यादा वाले निर्माण साइट को डस्ट कंट्रोल करने के लिए वेब पोर्टल पर पंजीकृत करना होगा।

 

सड़क सफाई और पानी का छिड़काव

5 हजार वर्ग मीटर से ज्यादा वाले निर्माण साइट पर एंटी स्मॉग गन लगाना अनिवार्य होगा। सड़कों पर सफाई के दौरान उड़ने वाली धूल को रोकने के लिए 82 मैकेनिकल रोड स्पीपिंग मशीन लगाई गई हैं। इसके अलावा 530 वाटर स्प्रिंक्लिंग मशीनें और 258 मोबाइल एंटी स्मॉग गन सड़कों पर पानी छिड़काव के लिए लगाई जाएंगी।

 

वाहन से होने वाले प्रदूषण

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वाहन से होने वाले प्रदूषण को रोकने के लिए पीयूसी सर्टिफिकेट की जांच की जाएगी। साथ ही 10 साल पुराने डीजल और 15 साल पुराने पेट्रोल वाहन के प्रतिबंध को सख्ती से लागू करने के लिए 385 टीमें गठित की गई हैं। दिल्ली में अत्यधिक ट्रैफिक वाली 90 सड़कों की पहचान की गई है।

 

कूड़ा जलाने पर प्रतिबंध

दिल्ली के अंदर खुले में कूड़ा जलाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध है। इसकी निगरानी के लिए 611 टीमों टीमों का गठन किया गया है।

 

औद्योगिक इंडस्ट्रीज अब पीएनजी से संचालित

सीएम ने बताया कि दिल्ली में स्थित सभी 1727 औद्योगिक इंडस्ट्रीज अब पीएनजी से संचालित होती हैं। इसकी निगरानी के लिए 66 टीमों का गठन किया गया है। ये टीमें सुनिश्चित करेंगी कि ये ईकाइयां किसी भी अनधिकृत और प्रदूषणकारी ईंधन का उपयोग तो नहीं कर रही हैं। साथ ही, अवैध रूप से चल रही औद्योगिक ईकाइयों पर भी कार्रवाई करेगी।

 

ग्रीन वॉर रूम

सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में एक ग्रीन वॉर रूम बनाया गया है, जिसके जरिए 24 घंटे निगरानी की जाएगी। यहां सभी एजेंसियों द्वारा हर दिन की गई कार्रवाई की रिपोर्ट का विश्लेषण करेगी और अगले दिन की योजना बनाएगी।

 

प्रकार की बिक्री या खरीद पर प्रतिबन्ध

सीएम अरविंद केजरीवाल ने बताया कि पिछले सालों की तरह इस साल भी दिल्ली के अंदर पटाखों के उत्पादन, भण्डारण और किसी भी प्रकार की बिक्री या खरीद पर पूरी तरह प्रतिबन्ध रहेगा।

 

Find More National News Here

दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सीएम केजरीवाल ने जारी किया 15 प्वाइंट का विंटर एक्शन प्लान_4.1

FAQs

दिल्ली के मुख्यमंत्री कौन है?

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल है.