Home   »   भारत में एयरोस्पेस शिक्षा और नवाचार...

भारत में एयरोस्पेस शिक्षा और नवाचार को बढ़ावा देने हेतु एयरबस ने आईआईटी कानपुर के साथ समझौता किया

भारत में एयरोस्पेस शिक्षा और नवाचार को बढ़ावा देने हेतु एयरबस ने आईआईटी कानपुर के साथ समझौता किया_3.1

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर (आईआईटीके) और एयरबस ने एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) के माध्यम से अपनी साझेदारी को औपचारिक रूप दिया है। हस्ताक्षरित इस ऐतिहासिक समझौते का उद्देश्य अनुसंधान और शिक्षा पहल के माध्यम से भारत में एयरोस्पेस क्षेत्र के प्रतिभा पूल को महत्वपूर्ण रूप से बढ़ाना है।

 

एयरोस्पेस उद्योग को सशक्त बनाना

आईआईटीके की एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, इन दो प्रतिष्ठित संस्थानों के बीच सहयोग उन्नत एयरोस्पेस प्रौद्योगिकियों में अनुसंधान को बढ़ावा देने के इर्द-गिर्द घूमेगा। इस साझेदारी में भारत में एयरोस्पेस छात्रों की तकनीकी क्षमताओं को बढ़ाने की दिशा में कार्यक्रमों और गतिविधियों का विकास भी शामिल होगा। इसके अतिरिक्त, दोनों संगठन वैश्विक संस्थानों के साथ सहयोग के अवसर तलाशने के लिए प्रतिबद्ध हैं, जिससे छात्रों को वास्तविक दुनिया, क्षेत्र-प्रासंगिक परियोजनाएं प्रदान की जा सकें।

 

सहयोग की संस्कृति का विकास करना

परामर्श और मूल्यवान अनुभव प्रदान करना

इस सहयोग का प्राथमिक लक्ष्य सहयोग की एक ऐसी संस्कृति स्थापित करना है जो पारंपरिक शिक्षा से परे हो। यह आईआईटी कानपुर के छात्रों को मेंटरशिप, एक्सपोज़र और अमूल्य व्यावहारिक अनुभव प्रदान करेगा। यह, बदले में, भारत के बढ़ते एयरोस्पेस उद्योग के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देगा।

 

भारत के प्रति एयरबस की प्रतिबद्धता

एयरोस्पेस इकोसिस्टम में निवेश

एयरबस ने भारत के एयरोस्पेस पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ाने के लिए एक मजबूत प्रतिबद्धता प्रदर्शित की है। सोर्सिंग, इंजीनियरिंग, नवाचार, रखरखाव और प्रशिक्षण सेवाओं में व्यापक भागीदारी के साथ, एयरबस देश की एयरोस्पेस क्षमताओं को सशक्त बनाने में सबसे आगे है। वडोदरा में C295 फाइनल असेंबली लाइन का निर्माण इस प्रतिबद्धता का एक प्रमुख उदाहरण है, जो निजी क्षेत्र में पहली ‘मेक इन इंडिया’ एयरोस्पेस पहल का प्रतिनिधित्व करता है। यह पहल देश में एक व्यापक औद्योगिक पारिस्थितिकी तंत्र के विकास को बढ़ावा देती है, जिससे भारत के एयरोस्पेस उद्योग को और मजबूती मिलती है।

आईआईटी कानपुर और एयरबस के बीच यह सहयोग भारत में एयरोस्पेस शिक्षा, अनुसंधान और उद्योग के विकास के भविष्य के लिए बहुत बड़ा वादा करता है, जो वैश्विक एयरोस्पेस क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी के रूप में भारत की स्थिति को और मजबूत करेगा।

 

Find More News Related to Agreements

QatarEnergy and Italy's Eni Ink 27-Year Natural Gas Deal_110.1

FAQs

आईआईटी कानपुर की स्थापना कब हुई?

IIT कानपुर की स्थापना 1959 में संसद के एक अधिनियम द्वारा की गई थी।