Home   »   21% अनौपचारिक श्रमिकों ने पीएम पेंशन...

21% अनौपचारिक श्रमिकों ने पीएम पेंशन योजना छोड़ी

21% अनौपचारिक श्रमिकों ने पीएम पेंशन योजना छोड़ी |_30.1

भारत में असंगठित श्रमिकों के लिए एक पेंशन योजना, प्रधान मंत्री श्रम योगी मान-धन (पीएम-एसवाईएम) योजना में छह महीने से भी कम समय में बड़ी संख्या में ग्राहकों ने कार्यक्रम छोड़ दिया है। इस प्रवृत्ति ने योजना की व्यवहार्यता और स्थिरता के बारे में चिंताएँ बढ़ा दी हैं।

 

सब्सक्राइबर्स में कमी

11 जुलाई तक पीएम-एसवाईएम योजना के ग्राहकों की संख्या घटकर 4.43 मिलियन हो गई है, जो 31 जनवरी को दर्ज किए गए 5.62 मिलियन के सर्वकालिक उच्च स्तर से 1.19 मिलियन कम है। इस गिरावट के मुख्य कारण बताए जा रहे हैं उच्च मुद्रास्फीति और बढ़ती जीवनयापन लागत ने असंगठित श्रमिकों के लिए स्वैच्छिक पेंशन कार्यक्रम में योगदान जारी रखना चुनौतीपूर्ण बना दिया है।

 

मुद्रास्फीति और जीवनयापन की लागत का प्रभाव

विशेषज्ञों का सुझाव है कि लगातार ऊंची कीमतों ने जीवनयापन की लागत में काफी वृद्धि की है, जिससे असंगठित श्रमिकों के लिए पीएम-एसवाईएम योजना के तहत मासिक योगदान का बोझ उठाना मुश्किल हो गया है। श्रम अर्थशास्त्री केआर श्याम सुंदर ने इस बात पर प्रकाश डाला कि ये निकास स्थायी हो सकते हैं, उच्च कीमतों के कारण चल रहे वित्तीय तनाव के कारण श्रमिक अपना योगदान और उन पर अर्जित ब्याज दोनों वापस ले रहे हैं।

 

निकासी दिशानिर्देश

योजना दिशानिर्देशों के अनुसार, यदि कोई ग्राहक दस साल से कम समय में पीएम-एसवाईएम योजना छोड़ देता है, तो उन्हें बचत बैंक ब्याज दर के साथ अपने हिस्से का योगदान वापस लेने की अनुमति है।

 

PM-SYM: एक स्वैच्छिक अंशदायी पेंशन योजना

PM-SYM योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक स्वैच्छिक अंशदायी पेंशन योजना है। इसका प्राथमिक उद्देश्य लाखों असंगठित श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना है। यह योजना 18 से 40 वर्ष की आयु के असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए बनाई गई है, जो प्रति माह 15,000 रुपये से कम कमाते हैं। इसका उद्देश्य इन श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा के दायरे में लाना और सेवानिवृत्ति के दौरान उनकी वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करना है।

 Find More News Related to Schemes & Committees

 

21% अनौपचारिक श्रमिकों ने पीएम पेंशन योजना छोड़ी |_40.1

FAQs

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना क्या है?

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना भारत में छोटे और सीमांत किसानों के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू की गई एक पेंशन योजना है। इस योजना का उद्देश्य किसानों को उनके बुढ़ापे में वित्तीय सुरक्षा प्रदान करना है।