Wednesday, 3 August 2022

जुलाई 2022 में हुआ अब तक का दूसरा सबसे अधिक GST कलेक्‍शन, जानें सबकुछ

जुलाई 2022 में हुआ अब तक का दूसरा सबसे अधिक GST कलेक्‍शन, जानें सबकुछ



जीएसटी कलेक्शन जुलाई के लिए लगातार पांचवें महीने 1.4 लाख करोड़ रुपये से ऊपर रहा। जुलाई 2022 के महीने में ग्रास जीएसटी रेवेन्यू 1,48,995 करोड़ किया गया, जो गुड्स और सर्विस टैक्स की शुरुआत के बाद से अब तक का दूसरा सबसे बड़ा संग्रह है। सरकार द्वारा सोमवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, जुलाई के रेवेन्यू का आंकड़ा पिछले साल के इसी महीने के 1,16,393 करोड़ रुपये के रेवेन्यू से 28 फीसद अधिक है।


Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams



IBPS PO Notification 2022 Out: Click Here to Download PDF


मुख्य बिंदु


  • वित्त मंत्रालय ने कहा कि लगातार पांच महीनों से, मंथली जीएसटी रेवेन्यू 1.4 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा है, जो हर महीने लगातार हो रही वृद्धि को दर्शाता है। 
  • जुलाई 2022 तक जीएसटी रेवन्यू में पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 35 फीसद की वृद्धि हुई है, जो बड़ी अधिक उछाल को प्रदर्शित करता है। 
  • यह बेहतर अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए पहले परिषद द्वारा उठाए गए विभिन्न उपायों का स्पष्ट प्रभाव है। आर्थिक सुधार के साथ बेहतर रिपोर्टिंग का लगातार आधार पर जीएसटी राजस्व पर सकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है।
  • सरकार ने आईजीएसटी से 32,365 करोड़ रुपये सीजीएसटी और 26,774 करोड़ रुपये एसजीएसटी का कलेक्शन किया है। 
  • नियमित निपटान के बाद जुलाई 2022 के महीने में केंद्र और राज्यों का कुल रेवेन्यू सीजीएसटी के लिए 58,116 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 59,581 करोड़ रुपये है।
  • कुल आंकड़े में से सीजीएसटी 25,751 करोड़ रुपये है। वहीं, एसजीएसटी 32,807 करोड़ रुपये है। आईजीएसटी 79,518 करोड़ रुपये (माल के आयात पर एकत्रित 41,420 करोड़ रुपये सहित) है और उपकर 10,920 करोड़ रुपये (माल के आयात पर एकत्र किए गए 995 करोड़ सहित रुपये) है। 
  • महीने के दौरान, गुड्स के आयात से रेवेन्यू 48 प्रतिशत अधिक था और घरेलू लेनदेन (सर्विस के आयात सहित) से राजस्व पिछले वर्ष के इसी महीने के दौरान इन स्रोतों से राजस्व की तुलना में 22 प्रतिशत अधिक है।


जीएसटी के पिछले महीनों की सूची:


  • जनवरी: 1,40,986 करोड़
  • फरवरी: 1,33,026 करोड़
  • मार्च: 1,42,095 करोड़
  • अप्रैल: 1,67,540 करोड़
  • मई: 1,40,885 करोड़
  • जून: 1,44,616 करोड़
  • जुलाई: 1,48,995 करोड़


Latest Notifications:



Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search