Friday, 10 June 2022

बेलाट्रिक्स एयरोस्पेस द्वारा हरित उपग्रह प्रणोदन का परीक्षण किया गया

बेलाट्रिक्स एयरोस्पेस द्वारा हरित उपग्रह प्रणोदन का परीक्षण किया गया

बेंगलुरु स्थित बेलाट्रिक्स एयरोस्पेस (Bellatrix Aerospace) ने पर्यावरण के अनुकूल उपग्रह प्रणोदन प्रणाली का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है जो हाइड्राज़िन पर निर्भर ईंधन प्रणालियों पर ईंधन दक्षता में 20 प्रतिशत की वृद्धि प्रदान करता है। बेलाट्रिक्स द्वारा अपने हरित प्रणोदन प्रणाली का हालिया परीक्षण भी उपग्रहों के लिए एक अंतरिक्ष टैक्सी विकसित करने की कंपनी की खोज़ में एक महत्वपूर्ण मोड़ का संकेत देता है।



Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams




प्रमुख बिंदु (KEY POINTS):


  • सैटेलाइट थ्रस्टर्स जहरीले पदार्थ हाइड्राज़िन का उपयोग करते हैं, जिसका पर्यावरण पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जिससे अंतरिक्ष विशेषज्ञों को पर्यावरण के अनुकूल प्रतिस्थापन की तलाश करने के लिए प्रेरित किया जाता है।
  • इसरो के एक प्रेस बयान के अनुसार, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 9,023 करोड़ रुपये की गगनयान परियोजना के हिस्से के रूप में दो मानव रहित मिशन और एक चालक दल के मिशन को मंजूरी दी।
  • मानव उड़ान मिशनों के लिए हरित प्रणोदक (green propellants) का पता लगाया जाना चाहिए, उनके परिणामस्वरूप तीव्र प्रसंस्करण समय और कम हैंडलिंग की जरूरत होगी, दोनों  मानव उड़ान मिशन (human flight mission) में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • इसरो ने कहा है कि वह भविष्य की सभी उड़ानों में हरित ईंधन का उपयोग करने का प्रयास करेगा, और बेलाट्रिक्स एयरोस्पेस द्वारा हाल ही में परीक्षण किया गया हरित ईंधन विशेष रूप से आशाजनक है, जो हाइड्राज़िन जैसे हानिकारक पदार्थों पर सुरक्षित संचालन और बेहतर प्रदर्शन दोनों की पेशकश करता है।
  • हरित प्रणोदन अनुसंधान (Green propulsion research) महत्वपूर्ण है क्योंकि दुनिया तेजी से हरित रसायन विज्ञान की ओर बढ़ रही है, और नवीनतम प्रगति के साथ बने रहना हमारे देश के लिए महत्वपूर्ण है।



बेलाट्रिक्स एयरोस्पेस (Bellatrix Aerospace)


बेलाट्रिक्स एयरोस्पेस का जिसका मुख्यालय भारत देश के बैंगलोर शहर में है। यह एक भारतीय निज़ी एयरोस्पेस निर्माण और छोटी उपग्रह कम्पनी है।  इस व्यवसाय को साल 2015 में स्थापित किया गया था। यह 2023 में अपने स्वयं के रॉकेट, चेतक को लॉन्च करना चाहता है। बेलाट्रिक्स भारत में नए जमाने के अंतरिक्ष तकनीकी व्यवसायों में से एक है, जिसने बेहतर अंतरिक्ष कार्यक्रमों की दौड़ में नई ऊंचाइयों पर जाने के लिए उद्यम निधि (venture funding) जुटाई है। जून 2019 में, IDFC परम्परा ने IISc-स्थापित फर्म के लिए प्री-सीरीज़ A राउंड का नेतृत्व किया। बेलाट्रिक्स एक क्रॉप का हिस्सा है जिसमें अग्निकुल कॉसमॉस, पिक्सेल, स्काईरूट एयरोस्पेस, और अन्य शामिल हैं, जो सभी भ्रूण क्षेत्र (Embryonic Area) में निवेशकों का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं।



Find More Sci-Tech News Here


ISRO plans mission to Venus by Dec 2024_80.1

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search