Friday, 6 May 2022

3 मई को मनाया गया विश्व अस्थमा दिवस 2022, जानें इस बीमारी और इसके इतिहास के बारे में

3 मई को मनाया गया विश्व अस्थमा दिवस 2022, जानें इस बीमारी और इसके इतिहास के बारे में


प्रत्येक वर्ष मई के पहले मंगलवार को दुनिया में अस्थमा के बारे में जागरूकता फैलाने और देखभाल करने के लिए 'विश्व अस्थमा दिवस' मनाया जाता है। इस वर्ष यह दिन 3 मई, 2022 को था। इस दिन ग्लोबल इनिशिएटिव फॉर अस्थमा द्वारा एक वार्षिक कार्यक्रम आयोजित किया जाता है। इस वर्ष की थीम/विषय 'अस्थमा देखभाल में अंतराल को ख़त्म करना (Closing Gaps in Asthma Care)' है। अस्थमा, वायुमार्ग की पुरानी सूजन की बीमारी है, यह दुनिया भर में 300 मिलियन लोगों को प्रभावित करती है और अकेले भारत में 15 मिलियन अस्थमा रोगी हैं।


Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams



विश्व अस्थमा दिवस का इतिहास (History of World Asthma Day):


  • विश्व अस्थमा दिवस प्रतिवर्ष ग्लोबल इनिशिएटिव फॉर अस्थमा (Global Initiative for Asthma - GINA) द्वारा आयोजित किया जाता है। सन् 1998 में, बार्सिलोना, स्पेन में पहली विश्व अस्थमा बैठक के संयोजन में 35 से अधिक देशों में 'पहला विश्व अस्थमा दिवस' मनाया गया था।


अस्थमा क्या है (What is Asthma)?


  • अस्थमा फेफड़ों की एक पुरानी बीमारी है जिसमें सांस लेने में समस्या होती है। अस्थमा के लक्षणों में सांस फूलना, खांसी, घरघराहट और सीने में जकड़न की भावना शामिल है। ये लक्षण आवृत्ति और गंभीरता में भिन्न होते हैं।
  • जब लक्षण नियंत्रण में नहीं होते हैं, तो वायुमार्ग में सूजन हो सकती है जिससे सांस लेना मुश्किल हो जाता है। जबकि अस्थमा को ठीक नहीं किया जा सकता है, अस्थमा से पीड़ित लोगों को पूर्ण जीवन जीने में सक्षम बनाने के लिए लक्षणों को नियंत्रित किया जा सकता है।
  • यह एक दीर्घकालिक बीमारी है, जो आपके वायुमार्ग को संकीर्ण और सूज जाती है और अतिरिक्त बलगम का उत्पादन कर सकती है। अस्थमा से पीड़ित व्यक्ति को सांस लेने में कठिनाई हो सकती है, जिससे खांसी, घरघराहट और सीने में जकड़न हो सकती है।


Find More Important Days Here

World Asthma Day 2021: 04 May_90.1

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search