Saturday, 5 March 2022

SWISS सोलर एविएशन फ्यूल का उपयोग करने वाली दुनिया की पहली एयरलाइन बन जाएगी

SWISS सोलर एविएशन फ्यूल का उपयोग करने वाली दुनिया की पहली एयरलाइन बन जाएगी

 


स्विस इंटरनेशनल एयर लाइन्स एजी (Swiss International Air Lines AG) (स्विस या स्विस एयर लाइन्स) और इसकी मूल कंपनी, लुफ्थांसा ग्रुप (Lufthansa Group) ने अपने सौर विमानन ईंधन का उपयोग करने के लिए स्विट्जरलैंड स्थित सौर ईंधन स्टार्ट-अप, सिन्हेलियन एसए (Synhelion SA) (सिनहेलियन) के साथ भागीदारी की है। स्विस इंटरनेशनल एयरलाइंस अपनी उड़ानों को बिजली देने में मदद करने के लिए सौर विमानन ईंधन ("सन-टू-लिक्विड" ईंधन) का उपयोग करने वाली पहली एयरलाइन बन जाएगी। 2023 में SWISS सौर मिट्टी के तेल का पहला ग्राहक बन जाएगा

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

 हिन्दू रिव्यू जनवरी 2022, Download Monthly Hindu Review PDF in Hindi


इसके लिए सिन्हेलियन ने अक्षय ऊर्जा स्रोतों से सस्टेनेबल विमानन ईंधन (sustainable aviation fuel - SAF) के निर्माण के लिए एक तकनीक विकसित की है। जब दहनशील सौर ईंधन केवल उतना ही CO2 का उत्पादन करेगा जितना कि इसके निर्माण में गया था, जिससे विमानन उत्सर्जन में कटौती हुई। सिन्हेलियन जर्मनी के जुलिच में औद्योगिक रूप से सौर ईंधन का उत्पादन करने के लिए दुनिया की पहली सुविधा का निर्माण करने के लिए तैयार है। यह प्लांट 2022 से चालू हो जाएगा।


सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:


  • स्विस इंटरनेशनल एयर लाइन्स एजी मुख्यालय: बेसल, स्विट्जरलैंड;
  • स्विस इंटरनेशनल एयर लाइन्स एजी की स्थापना: 1 अप्रैल 2002;
  • स्विस इंटरनेशनल एयर लाइन्स एजी अध्यक्ष: रेटो फ्रांसियोनी;
  • स्विस इंटरनेशनल एयर लाइन्स एजी सीईओ: डाइटर व्रैंक्स।


Find More International News

US, EU, UK decided to eliminate selected Russian banks from SWIFT_80.1

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search