Monday, 14 February 2022

केंद्र ने ट्रांसजेंडर समुदाय और भिखारियों के लिए 'स्माइल' योजना शुरू की

केंद्र ने ट्रांसजेंडर समुदाय और भिखारियों के लिए 'स्माइल' योजना शुरू की

 


केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री, डॉ वीरेंद्र कुमार (Virendra Kumar) ने "स्माइल (SMILE)" नामक केंद्रीय क्षेत्र की योजना शुरू की है। SMILE, का मतलब सपोर्ट फॉर मार्जिनलाइज़ इंडिविजुअल फॉर लाइवलीहुड एंड एंटरप्राइज (Support for Marginalized Individuals for Livelihood and Enterprise) है। नई अम्ब्रेला योजना का उद्देश्य ट्रांसजेंडर समुदाय और भीख मांगने के कार्य में लगे लोगों को कल्याणकारी उपाय प्रदान करना है। यह योजना लक्षित समूह को आवश्यक कानूनी सुरक्षा, सामाजिक सुरक्षा और एक सुरक्षित जीवन का वादा देगी। मंत्रालय ने 2021-22 से 2025-26 तक पांच साल के लिए योजना के लिए 365 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

 हिन्दू रिव्यू जनवरी 2022, Download Monthly Hindu Review PDF in Hindi


SMILE योजना में दो उप-योजनाएं शामिल हैं :


  • 'ट्रांसजेंडर व्यक्तियों के कल्याण के लिए व्यापक पुनर्वास के लिए केंद्रीय क्षेत्र की योजना'।

  1. ट्रांसजेंडर छात्रों के लिए छात्रवृत्ति: IX में पढ़ने वाले और स्नातकोत्तर तक के छात्रों के लिए छात्रवृत्ति उन्हें अपनी शिक्षा पूरी करने में सक्षम बनाने के लिए।
  2. कौशल विकास और आजीविका: विभाग की पीएम-दक्ष (PM-DAKSH) योजना के तहत कौशल विकास और आजीविका।
  3. समग्र चिकित्सा स्वास्थ्य: पीएम-जेएवाई (PM-JAY) के साथ अभिसरण में एक व्यापक पैकेज चयनित अस्पतालों के माध्यम से लिंग-पुष्टिकरण सर्जरी का समर्थन करता है।
  4. 'गरिमा गृह' के रूप में आवास: आश्रय गृह 'गरिमा गृह (GarimaGreh)' जहां भोजन, वस्त्र, मनोरंजन की सुविधा, कौशल विकास के अवसर, मनोरंजक गतिविधियाँ, चिकित्सा सहायता आदि प्रदान की जाएगी।
  5. ट्रांसजेंडर प्रोटेक्शन सेल का प्रावधान: अपराधों के मामलों की निगरानी और समय पर पंजीकरण, जांच और अपराधों के अभियोजन को सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक राज्य में ट्रांसजेंडर सुरक्षा की स्थापना करना।
  6. ई-सेवाएं (राष्ट्रीय पोर्टल और हेल्पलाइन और विज्ञापन) और अन्य कल्याणकारी उपाय।

  • 'भीख मांगने के कार्य में लगे लोगों के व्यापक पुनर्वास के लिए केंद्रीय क्षेत्र योजना'।

  1. सर्वेक्षण और पहचान: लाभार्थियों का सर्वेक्षण और पहचान कार्यान्वयन एजेंसियों द्वारा किया जाएगा।
  2. लामबंदी: आश्रय गृहों में उपलब्ध सेवाओं का लाभ उठाने के लिए भीख मांगने में लगे व्यक्तियों को जुटाने के लिए आउटरीच कार्य किया जाएगा।
  3. बचाव/आश्रय गृह: आश्रय गृह भीख मांगने वाले बच्चों और भीख मांगने में लगे व्यक्तियों के बच्चों के लिए शिक्षा की सुविधा प्रदान करेंगे।
  4. व्यापक पुनर्वास।


Find More News Related to Schemes & Committees

SEBI restructured Advisory Committee on Investor Protection and Education Fund_90.1

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search