Wednesday, 29 September 2021

भारत को IAEA बाहरी लेखा परीक्षक का कार्यभार

भारत को IAEA बाहरी लेखा परीक्षक का कार्यभार

 


भारत को अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (International Atomic Energy Agency - IAEA) के लिए बाहरी लेखा परीक्षक के रूप में चुना गया है, जो एक प्रतिष्ठित संस्थान है जो परमाणु ऊर्जा के शांतिपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देता है, 2022 से 2027 तक छह साल की अवधि के लिए जर्मनी और यूनाइटेड किंगडम और अन्य देशों को हराकर भारत ने यह जवाबदेही हासिल की है। भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक जीसी मुर्मू (GC Murmu) को IAEA और विदेश मंत्रालय (MEA) के बाहरी लेखा परीक्षक के रूप में चुना गया था।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

IBPS RRB क्लर्क मेन्स और SBI क्लर्क मेन्स 2021 परीक्षाओं के लिए करेंट अफेयर्स GA पॉवर कैप्सूल: Download PDF

इस पद के लिए पहले दौर के मतदान में जर्मनी को 36, भारत को 30, ब्रिटेन को 8, रूस को 11, तुर्की को 9, मिस्र को 20, कोरिया गणराज्य को 2 और फिलीपींस को 7 वोट मिले। दूसरे दौर में भारत और जर्मनी के बीच की दौड़ में भारत ने यूरोपीय देश को हरा दिया।

 
सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • आईएईए मुख्यालय: वियना (Vienna), ऑस्ट्रिया;
  • आईएईए की स्थापना: 29 जुलाई 1957।

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search