Thursday, 19 August 2021

RBI ऋणदाताओं द्वारा अनुपालन को मजबूत करने के लिए एक "PRISM" स्थापित करेगा

RBI ऋणदाताओं द्वारा अनुपालन को मजबूत करने के लिए एक "PRISM" स्थापित करेगा

 


भारतीय रिज़र्व बैंक (Reserve Bank of India) पर्यवेक्षित संस्थाओं (supervised entities - SEs) द्वारा अनुपालन को मजबूत करने के लिए स्थापित कर रहा है एक मंच विनियमित संस्थाओं के लिए एकीकृत पर्यवेक्षण और निगरानी (Platform for Regulated Entities for Integrated Supervision and Monitoring - PRISM) के लिए वेब-आधारित एंड-टू-एंड वर्कफ़्लो (end-to-end workflow) स्वचालन प्रणाली। इसका उद्देश्य पर्यवेक्षित संस्थाओं को उनकी आंतरिक सुरक्षा और लचीलेपन को मजबूत करने और मूल कारण विश्लेषण (root cause analysis - RCA) पर ध्यान केंद्रित करने में मदद करना है।

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

PRISM क्या है?

PRISM में बिल्ट-इन रेमेडिएशन वर्कफ्लो, टाइम ट्रैकिंग, नोटिफिकेशन और अलर्ट, मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम (MIS) रिपोर्ट और डैशबोर्ड के साथ विभिन्न कार्यात्मकताएं (निरीक्षण; अनुपालन; साइबर सुरक्षा के लिए घटना कार्यक्षमता; शिकायतें; और रिटर्न कार्यात्मकता) होंगी।


सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

  • आरबीआई के 25वें गवर्नर: शक्तिकांत दास (Shaktikant Das); मुख्यालय: मुंबई (Mumbai); स्थापित: 1 अप्रैल 1935, कोलकाता (Kolkata)।

Find More Banking News Here

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search