Tuesday, 22 June 2021

नोटबंदी 2016 के दौरान गृहिणियों द्वारा की गई नकद जमा टैक्स से बाहर: ITAT

नोटबंदी 2016 के दौरान गृहिणियों द्वारा की गई नकद जमा टैक्स से बाहर: ITAT

 


न्यायिक सदस्य ललित कुमार और लेखाकार सदस्य डॉ मीठा लाल मीणा की संयुक्त आयकर अपीलीय न्यायाधिकरण (ITAT), आगरा खंडपीठ ने फैसला सुनाया है कि विमुद्रीकरण योजना 2016 (demonetization scheme 2016) के दौरान गृहिणियों (housewives) द्वारा की गई नकद जमा राशि, यदि वह राशि 2.5 लाख रुपये कम है तो ऐसी राशि को निर्धारिती की आय नहीं माना जाएगा।


Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams


यह फैसला ट्रिब्यूनल में एक गृहिणी द्वारा दायर एक अपील पर विचार करने दौरान किया गया, जिसने विमुद्रीकरण अवधि के दौरान बैंक खाते में 2,11,500 रुपये की नकदी जमा की थी। गृहिणियों (housewives) ने ट्रिब्यूनल को बताया कि उसने अपने और अपने परिवार के भविष्य के उद्देश्यों के लिए अपने पति, बेटे, रिश्तेदारों द्वारा दी गई अपनी पिछली बचत से उपरोक्त राशि को एकत्र/बचाया था।


Find More News on Economy Here

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search