Monday, 28 December 2020

जानें- क्‍या है A68a आइसबर्ग, और इसने कैसे बढ़ाई विश्व भर के वैज्ञानिकों की चिंता

जानें- क्‍या है A68a आइसबर्ग, और इसने कैसे बढ़ाई विश्व भर के वैज्ञानिकों की चिंता

 

दक्षिणी अटलांटिक महासागर (South Georgia Island) के विशालकाय आइसबर्ग (हिमखंड) A68a ने विश्व भर के वैज्ञानिकों की चिंताओं को बढ़ा दिया है। दक्षिणी अटलांटिक महासागर में तैरते विशालकाय आइसबर्ग A68a, का क्षेत्रफल करीब 5,800 वर्ग किलोमीटर हैं।


साल 2017 से, यह अटलांटिक महासागर में बह रहा था। हाल ही में इस हिमखंड को दक्षिण अटलांटिक महासागर की ओर बहता देखा गया और तब से यह दक्षिण जॉर्जिया के दूरस्थ उप-अंटार्कटिक द्वीप की ओर बह रहा है।इसको लेकर British Overseas Territory (BOT) ने द्वीप प् मौजूद वन्य जीवन पर आइस के प्रभाव के बारे में चिंताए व्यक्त की हैं।


WARRIOR 4.0 | Banking Awareness Batch for SBI, RRB, RBI and IBPS Exams | Bilingual | Live Class


आइसबर्ग क्या हैं?

आइसबर्ग अथवा हिमखंड उसे कहते है, जो ग्लेशियर या आइस-शेल्फ़ से टूटकर खुले पानी में तैर रहा हो, ये समुद्र की धाराओं के साथ बहते है।


आइसबर्ग A68a के बारे में और यह कहां है?

A68a हिमखंड, लगभग डेलवेयर देश के एक आकार का है, जुलाई 2017 में अंटार्कटिका के लार्सन सी आइस शेल्फ से अलग हो गया था। तब से यह दक्षिण जॉर्जिया के दूरदराज के द्वीप की ओर बह रहा है, जो एक ब्रिटिश प्रवासी क्षेत्र (BOT) है।


यूएस नेशनल आइस सेंटर (USNIC) ने हाल ही में पुष्टि की है कि A68a से अलग हुए दो नए हिमखंडों को शांत किया गया था और जिन्हें A68E और A68F कहा जाता है।


महत्वपूर्ण बिंदु

  • दक्षिण अटलांटिक महासागर में, दक्षिण जॉर्जिया एक द्वीप है जो दक्षिण जॉर्जिया के ब्रिटिश प्रवासी क्षेत्र और दक्षिण सैंडविच द्वीप (SGSSI) का हिस्सा है। मुख्य आबादी वाला क्षेत्र Grytviken है।
  • USNIC का पुरा नाम यूएस नेशनल आइस सेंटर है जो आइसबर्ग का नाम रखता है, जिसे अटलांटिक क्वाड्रेंट के अनुसार नामित किया गया है जिसमें वे स्पॉट किए गए हैं।

Find More Sci-Tech News Here

 

 

Post a Comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search