Tuesday, 10 November 2020

असम: तेजपुर लीची को मिला GI टैग

असम: तेजपुर लीची को मिला GI टैग

 


कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (Agriculture and Processed Food Products Export Development Authority) ने असम की तेजपुर लीची को भौगोलिक संकेत (जीआई) टैग दिए जाने की घोषणा की है, हालांकि जीआई टैग सूची में लीची का नाम 2015 से शामिल था। जीआई टैगिंग के लिए 28 अगस्त 2013 को उत्तर पूर्वी क्षेत्रीय कृषि विपणन निगम लिमिटेड (North Eastern Regional Agricultural Marketing Corporation Ltd) द्वारा आवेदन किया गया था।


असम के तेजपुर लीची को भौगोलिक संकेत (GI) टैग मिलने इस वस्तु को राज्य में उसकी उत्पत्ति का एक विशिष्ट उत्पाद बनाता है, जो इसे इससे मिलते-जुलते उत्पाद से बचाता है। तेजपुर की लीची को उत्कृष्ट गुणवत्ता, सुखद स्वाद, आकर्षक लाल रंग के साथ रसदार गूदे के लिए जाना जाता है।


WARRIOR 4.0 | Banking Awareness Batch for SBI, RRB, RBI and IBPS Exams | Bilingual | Live Class


भौगोलिक संकेत के बारे में:

किसी भी भौगोलिक संकेत का उपयोग विशिष्ट भौगोलिक उत्पत्ति के एक उत्पाद पर किया जाता है जो इसकी उत्पत्ति के स्थान के कारण इसकी विशिष्टता या प्रतिष्ठा के लिए दिया है। इसके लिए पेटेंट, डिजाइन और ट्रेडमार्क के नियंत्रक जनरल के कार्यालय में आवेदन दाखिल करना होगा। केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत एक शीर्ष निकाय कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (APEDA) द्वारा इसकी पुष्टि की गई है, जो कृषि उत्पादों के निर्यात संवर्धन के लिए जिम्मेदार है।


उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-

  • असम के मुख्यमंत्री: सर्बानंद सोनोवाल; राज्यपाल: प्रो. जगदीश मुखी 
  • असम का लोक नृत्य: बिहू नृत्य, बगरुम्बा, भोराल नृत्य, झुमुर नृत्य.

Find More Miscellaneous News Here

Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search