Friday, 3 July 2020

सिद्धार्थ मुखर्जी और प्रोफेसर राज चेट्टी को ‘2020 ग्रेट इमिग्रेंट्स’ से किया गया सम्मानित

सिद्धार्थ मुखर्जी और प्रोफेसर राज चेट्टी को ‘2020 ग्रेट इमिग्रेंट्स’ से किया गया सम्मानित

भारतीय-अमेरिकी पुलित्जर पुरस्कार विजेता लेखक एवं फिजिशियन सिद्धार्थ मुखर्जी और हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर राज चेट्टी को COVID-19 महामारी को रोकने के लिए किए गए उनके प्रयासों के योगदान के लिए कार्नेगी कोरपोरेशन ऑफ न्यूयॉर्क ने ‘2020 ग्रेट इमिग्रेंट्स’ की सूची में शामिल 38 अमेरिकी नागरिकों के साथ सम्मनित किया गया है।





सिद्धार्थ मुखर्जी के बारे में:

सिद्धार्थ मुखर्जी को "उनके कम्युनिकेशन कौशल का उपयोग करके लोगों को अपने मंचों और उनके व्यापक रूप से पढ़े गए निबंधों के माध्यम से COVID-19 के बारे में शिक्षित करने और जागरूकता बढ़ाने के लिए सम्मानित किया गया है।" उन्होंने 2011 में लिखी अपनी पुस्तक ‘The Emperor of All Maladies: A Biography of Cancer’ के लिए पुलित्जर पुरस्कार जीता था। उन्हें वर्ष 2014 में पद्म श्री से  सम्मनित किया गया था। इनके अलावा, यह पुस्तक टाइम पत्रिका की “All-Time 100 Nonfiction Books” की सूची में भी शामिल की गई थी।

राज चेट्टी के बारे में:

राज चेट्टी महामारी से पड़ने वाले आर्थिक प्रभाव को मापने और सार्वजानिक नीति को निष्पादित करने के लिए निर्णय लेने वाले संघटनों की सहायता करने के लिए रियल-टाइम डेटा ट्रैकर लॉन्च करने वालों की एक सूची तैयार करते है। उन्हें 2015 में पद्म श्री, 2013 में अमेरिकन इकोनॉमिक एसोसिएशन के जॉन बेट्स क्लार्क मेडल और 2010 में यंग लेबर इकोनॉमिस्ट अवार्ड दिया गया है। इसके अलावा उन्हें द इकोनॉमिस्ट और द न्यूयॉर्क टाइम्स द्वारा साल 2008 में दुनिया के शीर्ष आठ युवा अर्थशास्त्रियों में से एक के रूप में सूचीबद्ध किया गया था। 

Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search