Tuesday, 14 July 2020

इसरो प्रमुख के. शिवन को साल 2020 के वॉन कर्मन पुरस्कार से किया जाएगा सम्मानित

इसरो प्रमुख के. शिवन को साल 2020 के वॉन कर्मन पुरस्कार से किया जाएगा सम्मानित

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के प्रमुख कैलाशवडिवु शिवन को इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ एस्ट्रोनॉटिक्स (IAA) के वॉन कर्मन पुरस्कार 2020 के लिए चुना गया किया है। वॉन कर्मन पुरस्कार को IAA के सर्वोच्च सम्मान के रूप में जाना जाता है। डॉ के. शिवन को मार्च 2021 में पेरिस फ्रांस में इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।


प्रो. उडुपी रामचंद्र राव, वॉन कर्मन पुरस्कार पाने वाले पहले भारतीय थे। उन्हें यह पुरस्कार साल 2005 में प्रदान किया गया था, जबकि उनके बाद डॉ. कृष्णास्वामी कस्तूरीरंगन को 2007 में वॉन कर्मन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।


von Karman Award के बारे में:
  • इंटरनेशनल एकेडेमी ऑफ एस्ट्रोनॉटिक्स (IAA) की स्थापना संगठन के पहले अध्यक्ष वॉन कर्मन ने की थी, जो अंतरिक्ष में सीमाओं का विस्तार करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।
  • वॉन कर्मन पुरस्कार की शुरुआत 1982 में की गई थी और यह अकादमी का प्रमुख पुरस्कार है।
  • यह राष्ट्रीयता या लिंग की सीमा को पार करके विज्ञान की किसी भी शाखा में आजीवन उपलब्धियों को चिन्हित करने के लिए प्रतिवर्ष दिया जाता है।
  • यह पुरस्कार अकादमी के संस्थापक और प्रथम अध्यक्ष के सम्मान में दिया जाता है, जो सर्वोच्च अंतरराष्ट्रीय प्रतिष्ठा के वैज्ञानिक थे.
उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ एस्ट्रोनॉटिक्स (IAA) के संस्थापक: डॉ थियोडोर वॉन कर्मन.
  • इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ एस्ट्रोनॉटिक्स (IAA) मुख्यालय: पेरिस, फ्रांस.

Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search