Tuesday, 9 June 2020

वायु सेना ने मरीजों को बाहर निकालने के लिए विकसित किया "ARPIT"

वायु सेना ने मरीजों को बाहर निकालने के लिए विकसित किया "ARPIT"

भारतीय वायु सेना द्वारा स्वदेशी रूप से पृथक परिवहन (आइसोलेटेड ट्रांसपोर्टेशन​) ​के लिए एक​​ ​​​​एयरबोर्न रेस्क्यू पॉड (Airborne Rescue Pod for Isolated Transportation-ARPIT) का डिजाइन, विकसित एवं निर्माण किया गया है। यह पॉड ऊंचाई वाले क्षेत्रों, अलग-थलग स्थानों तथा दूरदराज के क्षेत्रों से COVID-19 सहित गंभीर ​संक्रामक ​रोगियों को बाहर निकालने में मददगार साबित होगा। इस सिस्टम को ​​​​​एविएशन प्रमाणित सामग्री ​​का उपयोग करके इसे हल्के आइसोलेशन सिस्टम के रूप में विकसित किया गया है।



ARPIT का डिजाइन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड और संयुक्त राज्य अमेरिका के रोग नियंत्रण केंद्र द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों के आधार पर किया गया है। ARPIT पॉड को 60,000 रुपये की लागत से विकसित किया गया है। 

उपरोक्त समाचारों से आने-वाली परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-
  • एयर चीफ मार्शल: राकेश कुमार सिंह भदौरिया.
  • भारतीय वायु सेना की स्थापना: 8 अक्टूबर 1932.
  • भारतीय वायुसेना मुख्यालय: नई दिल्ली.

Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search