Wednesday, 6 May 2020

DRDO ने विकसित किया अल्ट्रा वायलेट डिसइंफेक्सन टॉवर

DRDO ने विकसित किया अल्ट्रा वायलेट डिसइंफेक्सन टॉवर

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की प्रतिष्ठित प्रयोगशाला लेजर साइंस एंड टेक्नोलॉजी सेंटर (LASTEC) द्वारा अल्ट्रा वायलेट (UV) डिसइंफेक्सन टॉवर विकसित किया गया है। यूवी डिसइंफेक्सन टॉवर को भारी संक्रमण वाले क्षेत्रों के त्वरित और रसायन मुक्त कीटाणुशोधन के लिए विकसित किया गया है। यह एक यूवी आधारित क्षेत्र सैनिटाइजर है जो प्रयोगशालाओं और कार्यालयों में इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, कम्प्यूटर और अन्य गैजेट जैसे उच्च प्रौद्योगिकी वाली सतहों में उपयोगी है, जो रासायनिक विधियों से कीटाणुशोधन के लिए उपयुक्त नहीं हैं




यूवी आधारित क्षेत्र सैनिटाइजर को वाईफाई लिंक का इस्तेमाल करते हुए लैपटॉप/मोबाइल के माध्यम से दूरस्थ परिचालन के द्वारा उपयोग किया जा सकता है और इसे हवाई अड्डों, शॉपिंग माल, मेट्रो, होटलों, कारखानों, कार्यालयों आदि ऐसे क्षेत्रों के लिए भी प्रभावी है, जहां लोगों की आवाजाही ज्यादा रहती है। साथ ही इसमें अचानक कमरा खुलने या मानवीय हस्तक्षेप से बंद होने की सुविधा भी है।


Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search