Tuesday, 21 April 2020

आईआईटी-मंडी ने विकसित की हाई-स्पीड मैग्नेटिक RAM

आईआईटी-मंडी ने विकसित की हाई-स्पीड मैग्नेटिक RAM

हिमाचल प्रदेश के मंडी में स्थित भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) ने एक हाई-स्पीड मैग्नेटिक रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) विकसित की है। इस मैग्नेटिक रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) पर मौजूदा डेटा स्टोरेज तकनीकों की तुलना में तेज, ऊर्जा-बचाने और अधिक मात्रा में अधिक डेटा स्टोरेज करने में मदद मिलेगी।



हाई-स्पीड मैग्नेटिक रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) से जुड़ी जरुरी बातें:
  • स्पिन-ट्रांसफर टॉर्क (STT) पर आधारित नैनो स्पिंट्रोनिक डिवाइस से बिजली जाने के कारण होने वाले डेटा नुकसान को बचाया जा सकेगा.
  • ये तकनीक में अगली पीढ़ी के कंप्यूटर, स्मार्टफोन और अन्य गैजेट्स के साथ कम करने सक्षम होगी.
  • इस रैम में, डेटा को इलेक्ट्रॉनों के स्पिन के रूप में दर्शाया जाता है।
  • मैग्नेटिक रैम में स्पिंटरोनिक तकनीक का उपयोग किया जाता है, जिसमे इलेक्ट्रॉन के आवेशों से संचालित होने वाले सामान्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के विपरीत सूचना प्रसारित करने और संसाधित करने के लिए इलेक्ट्रॉनों के स्पिन का उपयोग किया जाता है।
  • यह इलेक्ट्रॉनों के स्पिन का दोहन करता है और चुंबकीय स्थिति में बदलाव करता है जिसे स्पिन-ट्रांसफर टॉर्क-मैग्नेटिक रैंडम एक्सेस मेमोरी (STT-MRAM) के रूप में जाना जाता है।


Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search