Monday, 23 March 2020

सत्यरूप सिद्धान्त सात ज्वालामुखी के शिखर पर चढ़ने वाले बने पहले भारतीय

सत्यरूप सिद्धान्त सात ज्वालामुखी के शिखर पर चढ़ने वाले बने पहले भारतीय

पर्वतारोही सत्यरूप सिद्धान्त का नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स (LBR) में 7 महाद्वीपों के सबसे ऊचे ज्वालामुखी पर चढ़ने वाले पहले भारतीय के रूप में शामिल किया गया है। साथ ही उन्होंने 7 चोटियों और 7 ज्वालामुखियों के शिखर पर चढ़ने वाले दुनिया के सबसे कम उम्र के पर्वतारोही के रूप में भी नया रिकॉर्ड कायम किया।

 ये 7 महाद्वीप शिखर हैं:
  • चिली में ओजोस डेल सालाडो (6,893 मीटर).
  • दक्षिण अमेरिका, अफ्रीका के तंजानिया में माउंट किलिमंजारो (5,895 मीटर).
  • रूस, यूरोप में माउंट एल्ब्रस (5,642 मीटर).
  • उत्तरी अमेरिका के मेक्सिको में माउंट पिको डी ओरीज़ाबा (5,636 मीटर).
  • ईरान, एशिया में माउंट दमावंद (5,610 मीटर).
  • पापुआ न्यू गिनी, ऑस्ट्रेलिया में माउंट गिलुवे (4,367 मीटर).
  • अंटार्कटिका में माउंट सिडली (4,285 मीटर).
अन्य उपलब्धियां:

इसके अलावा सत्यरूप सिद्धान्त का नाम गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स, एशिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स, इंडिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स, चैंपियन बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स, ब्रिटिश बुक ऑफ़ रिकॉर्ड्स आदि में भी शामिल किया जा चुका हैं।


लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड (LBR):

लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड भारतीयों द्वारा भारत या विदेशों के कई विभिन्न में मानवीय प्रयासों से प्राप्त की गई उपलब्धियों की पुस्तक है। यह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के बाद दुनिया में रिकॉर्ड की दूसरी सबसे प्रतिष्ठित पुस्तक है।

Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search