Monday, 13 January 2020

RBI ने जारी की "वित्तीय समावेशन के लिए राष्ट्रीय कार्यनीति " रिपोर्ट

RBI ने जारी की "वित्तीय समावेशन के लिए राष्ट्रीय कार्यनीति " रिपोर्ट


भारतीय रिज़र्व बैंक ने वित्तीय समावेशन के लिए राष्ट्रीय कार्यनीति (एनएसएफ़आई): 2019-2024 रिपोर्ट जारी की है. वित्तीय समावेशन सलाहकार समिति (FIAC) के तत्वावधान में RBI द्वारा 2019-2024 की अवधि के लिए वित्तीय समावेशन की राष्ट्रीय रणनीति तैयार की गई है। वित्तीय स्थिरता विकास परिषद (FSDC) द्वारा रिपोर्ट की पुष्टि की गई है।

आधिकारिक बयान के अनुसारवैश्विक स्तर पर, पिछले एक दशक में राष्ट्रीय वित्तीय समावेशन कार्यनीतियों (एनएफ़आईएस) को अपनाने में काफी तेजी आई है। वैश्विक प्रवृत्ति को ध्यान में रखते हुए, वित्तीय समावेशन सलाहकार समिति (एफ़आईएसी) के तत्वावधान में भारतीय रिज़र्व बैंक ने 2019-2024 की अवधि के लिए वित्तीय समावेशन के लिए राष्ट्रीय कार्यनीति (एनएसएफ़आई) तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की है। सभी हितधारकों के साथ गहन विचार-विमर्श किया गया है। 

रिपोर्ट में वित्तीय समावेशन के उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए रणनीतिक उद्देश्यों के भाग के रूप में निम्नलिखित 6 स्तंभों को पेश किया गया है :

  • वित्तीय सेवाओं के लिए यूनिवर्सल एक्सेस
  • वित्तीय सेवाओं के  बेसिक बकेट प्रदान करना
  • आजीविका और कौशल विकास तक एक्सेस
  • वित्तीय साक्षरता और शिक्षा
  • ग्राहक संरक्षण और शिकायत निवारण
  • प्रभावी समन्वय

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:
  •  RBI के 25 वें गवर्नर: शक्तिकांत दास; मुख्यालय: मुंबई; स्थापित: 1 अप्रैल 1935, कोलकाता।



Post a comment

Whatsapp Button works on Mobile Device only

Start typing and press Enter to search