Home   »   अहमद अवद बिन मुबारक, यमन के...

अहमद अवद बिन मुबारक, यमन के नए प्रधानमंत्री

अहमद अवद बिन मुबारक, यमन के नए प्रधानमंत्री |_30.1

यमन के राष्ट्रपति नेतृत्व परिषद ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए विदेश मंत्री अहमद अवद बिन मुबारक को देश का नया नियुक्त किया है।

यमन के राष्ट्रपति नेतृत्व परिषद ने एक महत्वपूर्ण कदम में विदेश मंत्री अहमद अवद बिन मुबारक को देश का नया प्रधान मंत्री नियुक्त किया। यह नियुक्ति ऐसे महत्वपूर्ण समय में हुई है जब यमन बढ़ते तनाव और सुरक्षा चुनौतियों का सामना कर रहा है। निवर्तमान प्रधान मंत्री, माईन अब्दुलमलिक सईद को राष्ट्रपति नेतृत्व परिषद के अध्यक्ष के सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया है, जो देश के राजनीतिक परिदृश्य में एक उल्लेखनीय बदलाव का प्रतीक है।

कौन हैं अहमद अवद बिन मुबारक?

अहमद अवद बिन मुबारक यमनी राजनीति में एक प्रमुख व्यक्ति (खासकर 2015 में देश के ईरान-गठबंधन हौथियों द्वारा उनके अपहरण के बाद से) रहे हैं। उस समय, वह तत्कालीन राष्ट्रपति अब्द-रब्बू मंसूर हादी के साथ उथल-पुथल भरे सत्ता संघर्ष के दौरान यमन के राष्ट्रपति प्रमुख के रूप में कार्यरत थे। उनकी कठिन परीक्षा ने यमन में गहरी बैठी राजनीतिक अशांति को उजागर किया, जिसने एक व्यापक संघर्ष में योगदान दिया जिसने देश को अपनी चपेट में ले लिया है।

बिन मुबारक के राजनीतिक करियर में संयुक्त राज्य अमेरिका में यमन के राजदूत के रूप में कार्य करना और 2018 में संयुक्त राष्ट्र में देश का प्रतिनिधित्व करना शामिल है। हौथी विद्रोहियों के कट्टर विरोध के लिए जाने जाने वाले, प्रधान मंत्री के रूप में उनकी नियुक्ति को राष्ट्रपति नेतृत्व परिषद द्वारा एक रणनीतिक कदम के रूप में देखा जाता है।

बढ़ता संघर्ष और क्षेत्रीय प्रभाव

रणनीतिक रूप से अरब प्रायद्वीप पर स्थित यमन, वर्तमान में हौथी विद्रोहियों द्वारा जहाजों पर लाल सागर के हमलों की एक श्रृंखला के कारण बढ़े हुए तनाव का सामना कर रहा है। इन हमलों ने संयुक्त राज्य अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम को जवाबी हमले के लिए प्रेरित किया है, जो संघर्ष में संभावित वृद्धि का संकेत है।

ईरान के साथ गठबंधन वाले हौथी विद्रोहियों ने इज़राइल के गाजा संघर्ष के प्रतिशोध में अपनी सैन्य कार्रवाइयां तेज कर दी हैं, और गाजा में शत्रुता समाप्त होने तक अपने हमले जारी रखने की कसम खाई है। जवाब में, अमेरिकी सेना ने भूमि और समुद्री हमलों के लिए लक्षित मिसाइलों के खिलाफ हवाई हमलों के साथ-साथ हौथिस द्वारा संचालित विस्फोटक मानवरहित सतह जहाजों (यूएसवी) पर हमला करने की सूचना दी।

अंतर्राष्ट्रीय चिंताएँ और यमन का भविष्य

यमन में चल रहा संघर्ष, हमलों और जवाबी हमलों की हालिया लहर से और भी बदतर हो गया है, जो न केवल क्षेत्रीय स्थिरता बल्कि अंतरराष्ट्रीय शिपिंग और सुरक्षा के लिए भी महत्वपूर्ण चुनौतियां पैदा करता है। प्रधानमंत्री के रूप में बिन मुबारक की नियुक्ति को उनके व्यापक राजनयिक अनुभव और हौथी विद्रोहियों के खिलाफ सख्त रुख को देखते हुए, इन चुनौतियों से निपटने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम के रूप में देखा जाता है।

परीक्षा से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

  1. बढ़ते तनाव के बीच राष्ट्रपति नेतृत्व परिषद द्वारा यमन के नए प्रधान मंत्री के रूप में किसे नियुक्त किया गया है?
  2. प्रधान मंत्री बनने से पहले, अहमद अवद बिन मुबारक ने अंतरराष्ट्रीय मंच पर यमन का प्रतिनिधित्व करते हुए किन राजनयिक भूमिकाओं में काम किया है?

कृपया अपनी प्रतिक्रियाएँ टिप्पणी अनुभाग में साझा करें।

अहमद अवद बिन मुबारक, यमन के नए प्रधानमंत्री |_40.1

FAQs

हाल ही में किस मंत्री ने 9वीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली है?

नीतीश कुमार