Home   »   महिला क्रिकेट: ऑस्ट्रेलिया पर पहली टेस्ट...

महिला क्रिकेट: ऑस्ट्रेलिया पर पहली टेस्ट जीत के साथ भारत ने हासिल की ऐतिहासिक उपलब्धि

महिला क्रिकेट: ऑस्ट्रेलिया पर पहली टेस्ट जीत के साथ भारत ने हासिल की ऐतिहासिक उपलब्धि_3.1

भारत की महिलाओं ने 24 दिसंबर को मुंबई में एकमात्र टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया पर ऐतिहासिक पहली जीत के साथ 28 वर्षों में टेस्ट क्रिकेट का अपना पहला ‘घरेलू सत्र’ समाप्त किया।

भारत की महिलाओं ने 24 दिसंबर को मुंबई में एकमात्र टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया पर ऐतिहासिक पहली जीत के साथ 28 वर्षों में टेस्ट क्रिकेट का अपना पहला ‘घरेलू सीज़न’ समाप्त किया। यह जीत भारतीय टीम के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि थी।

पूरे सीज़न में दबदबा बनाए रखने वाला प्रदर्शन

1995 के बाद पहली बार घरेलू मैदान पर एक से अधिक टेस्ट खेलते हुए भारतीय महिलाओं ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और जरा भी गलती नहीं की। टीम ने ‘सकारात्मक क्रिकेट’ खेलने, चुनौतियों का सामना करने और ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जैसे कट्टर विरोधियों के खिलाफ शर्तों को तय करने के वादे का पालन किया।

घरेलू परीक्षणों में नैदानिक प्रदर्शन

इंग्लैंड के खिलाफ वानखेड़े स्टेडियम और डीवाई पाटिल स्टेडियम में खेले गए दो घरेलू टेस्ट में भारत के नैदानिक ​​प्रदर्शन ने लगातार उत्कृष्टता का प्रदर्शन किया। टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ रनों के अंतर से सबसे बड़ी जीत दर्ज की, और 11 टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलिया पर उनकी पहली जीत ने उनके रिकॉर्ड में एक और जीत जोड़ दी।

रिकॉर्ड तोड़ने वाले आँकड़े

40 टेस्ट में, भारत ने अब सात जीत और छह हार का दावा किया है, जबकि 27 मैच ड्रा रहे हैं। हावी होने वाला शो भविष्य में और अधिक ‘घरेलू’ टेस्ट की मेजबानी पर पुनर्विचार करने का संकेत देता है, क्योंकि महिला क्रिकेट में ऐसे खेल दुर्लभ हैं।

उभरते सितारे

हाल के टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ जेमिमा रोड्रिग्स, शुभा सतीश और रेणुका सिंह ठाकुर के रूप में नए टेस्ट सितारों का उदय हुआ। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ, 20 वर्षीय ऋचा घोष ने महत्वपूर्ण 52 रनों के साथ उल्लेखनीय शुरुआत की।

चौथे दिन जीत

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच के चौथे दिन भारतीय स्पिनरों ने अहम भूमिका निभाई। स्नेह राणा, राजेश्वरी गायकवाड़ और दीप्ति शर्मा ने ऑस्ट्रेलियाई प्रतिरोध पर कहर ढाने के लिए सहयोग किया। कम बढ़त हासिल करने के इरादे से उतरी ऑस्ट्रेलिया की हार के कारण दिन के पहले 45 मिनट में पांच विकेट गिर गए और अंततः भारत को मैच हारना पड़ा।

गेंदबाज़ों का कमाल

पूजा वस्त्राकर और स्नेह राणा ने नुकसान की शुरुआत की, जबकि राजेश्वरी गायकवाड़ की स्पिन ने महत्वपूर्ण सफलताएं दिलाईं। अपने पहले निबंध में 219 रन बनाने के बाद ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी 261 पर समाप्त हुई, क्योंकि भारत के गेंदबाजों ने दबदबा दिखाया।

सर्वोच्च बल्लेबाजी प्रदर्शन

भारत की बल्लेबाजी का शानदार प्रदर्शन जारी रहा और उन्होंने पहली पारी में 406 रन बनाए, जो टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अब तक का उनका सर्वोच्च स्कोर है। शुरुआती सफलताओं के बावजूद, ऋचा घोष और स्मृति मंधाना की साझेदारी ने 75 रन के छोटे लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया और आठ विकेट से जीत दर्ज की।

विजय का जश्न

जैसे ही ऐतिहासिक जीत तय हुई, कप्तान हरमनप्रीत कौर और टीम ने उपलब्धि की भावना के साथ जश्न मनाया। यह जीत न केवल मौजूदा टीम के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, बल्कि भविष्य में और अधिक ‘घरेलू’ टेस्ट मैचों की उम्मीद भी जगाती है, जो भारत में महिला टेस्ट क्रिकेट की वृद्धि और सफलता पर जोर देती है।

परीक्षा से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

Q1. किस स्टेडियम ने अपने घरेलू सत्र में ऑस्ट्रेलिया पर भारत की महिलाओं की ऐतिहासिक पहली टेस्ट जीत की मेजबानी की?
A. मुंबई का वानखेड़े स्टेडियम।

Q2. भारतीय महिलाओं ने अपने हालिया सीज़न में घरेलू मैदान पर कितने टेस्ट मैच खेले?
A. उन्होंने घरेलू मैदान पर दो टेस्ट मैच खेले।

Q3. हाल के टेस्ट मैचों में इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय महिलाओं के लिए उभरते हुए टेस्ट सितारे कौन थे?
A. जेमिमाह रोड्रिग्स, शुभा सतीश और रेणुका सिंह ठाकुर।

Q4. चौथी पारी में ऑस्ट्रेलिया ने भारत के सामने क्या लक्ष्य रखा?
A. लक्ष्य 75 रन का था।

Q4. चौथे दिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में भारत के प्रमुख गेंदबाज कौन थे?
A. स्नेह राणा, राजेश्वरी गायकवाड़, और दीप्ति शर्मा।

Bhashini AI Translates PM Modi's Speech In Indian languages_80.1

FAQs

बांग्लादेश की प्रधान मंत्री कौन हैं?

बांग्लादेश की प्रधान मंत्री शेख हसीना हैं।

TOPICS: