Home   »   जानें कौन हैं भारतीय-अमेरिकी नील मोहन,...

जानें कौन हैं भारतीय-अमेरिकी नील मोहन, जो बने यूट्यूब के नए सीईओ

जानें कौन हैं भारतीय-अमेरिकी नील मोहन, जो बने यूट्यूब के नए सीईओ |_30.1

भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक नील मोहन वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब के नए सीईओ होंगे। मोहन सुसान वोजिकी की जगह लेंगे। सुसान वोजिकी नौ साल बाद अपने पद से हट रहीं हैं। उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया है। नील मोहन अभी यूट्यूब के चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर हैं। लंबे वक्त से वह सुसान वोजिकी के सहयोगी रहे हैं।

 

Buy Prime Test Series for all Banking, SSC, Insurance & other exams

 

नील मोहन भी अब भारतीय मूल के उन सीईओ की सूची में शामिल हो चुके हैं, जो दुनियाभर की दिग्गज कंपनियों को संभाल रहे हैं। मसलन माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला, एडोब के सीईओ शांतनु नारायण और अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई जैसे चेहरे शामिल हैं।

 

नील मोहन के बारे में

भारतीय मूल के नील मोहन यूट्यूब के नए सीईओ और वाइस प्रेसिडेंट हैं। साल 2008 में नील यूट्यूब के साथ जुड़े थे। साल 2013 में कंपनी ने उन्हें 544 करोड़ रुपए का बोनस दिया था। यूट्यूब की मूल कंपनी अल्फाबेट की सीईओ सुंदर पिचाई (Sunder Pichai) भी भारतवंशी है। उन्होंने साल 2015 में चीफ प्रोडक्ट ऑफिसर की जिम्मेदारी मिली। उनके काम को देखते हुए उन्हें शुरुआत से ही वोज्स्की का उत्तराधिकारी माना जा रहा था। उनके भीतर लीडरशिप क्वालिटी से वोज्स्की प्रभावित थी।

नील मोहन ने स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की पढ़ाई की है। नील मोहन ने अपने करियर की शुरुआत ग्लोरफाइड टेक्निकल सपोर्ट से की थी। उस वक्त उनकी सालाना आय 60,000 डॉलर थी। ग्लोरफाइड टेक्निकल सपोर्ट के बाद उन्होंने डबल क्लिक को ज्वाइन किया था, जिसे 2008 में गूगल ने खरीद लिया था। उन्होंने एसेंचर में सीनियर एनालिस्ट के पद पर काम किया है। इसके अलावा उन्होंने डबलक्लिक इंक में 3 सालों तक कीम किया। इसके बाद उन्होंने करीब ढाई साल वाइस प्रेसिडेंट बिजनेस ऑपरेशन की जिम्मेदारी संभाली। उनके पास माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) में काम का भी अनुभव है। साल 2008 में गूगल ने डबलक्लिक का अधिग्रहण कर लिया, जिसके बाद नील गूगल में शामिल हो गए।

 

सुसान वोजिकी ने क्यों दिया इस्तीफा?

 

सुसान वोजिकी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने परिवार, हेल्थ और पर्सनल लाइफ पर फोकस करने के लिए यूट्यूब पर अपने सफर को विराम दे दिया। साल 2014 में उन्होंने यूट्यूब के सीईओ की जिम्मेदारी संभाली।

 

सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण टेकअवे:

 

  • YouTube संस्थापक: जावेद करीम, चाड हर्ले, स्टीव चेन;
  • YouTube स्थापित: 14 फरवरी 2005, सैन मेटो, कैलिफोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका;
  • YouTube  मुख्यालय: सैन ब्रूनो, कैलिफ़ोर्निया, संयुक्त राज्य अमेरिका;
  • YouTube  मूल संगठन: Google।

 

जानें कौन हैं भारतीय-अमेरिकी नील मोहन, जो बने यूट्यूब के नए सीईओ |_40.1

 

FAQs

गूगल के सीईओ कौन है?

सुंदर पिचाई

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *