Home   »   Berkshire Hathaway ने Paytm में 2.46%...

Berkshire Hathaway ने Paytm में 2.46% हिस्सेदारी बेची, 507 करोड़ रुपये का घाटा

Berkshire Hathaway ने Paytm में 2.46% हिस्सेदारी बेची, 507 करोड़ रुपये का घाटा |_30.1

दुनिया के जाने-माने निवेशक वॉरेन बफे (Warren Buffett) समर्थित बर्कशायर हैथवे ने ओपन मार्केट में पेटीएम (Paytm) की मूल कंपनी वन97 कम्युनिकेशंस में अपनी पूरी 2.46 प्रतिशत हिस्सेदारी 1,371 करोड़ रुपये में बेच दी। बर्कशायर हैथवे ने ओपन मार्केट के माध्यम से लगभग ₹1370 करोड़ में अपनी हिस्सेदारी बेची है। बर्कशायर हैथवे को इस निवेश में करीब 507 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। उनकी ओर से पेटीएम में पांच वर्ष पहले निवेश किया गया था। ये डील जेपी मॉर्गन की साहयता से की गई है।

बर्कशायर हैथवे इंक ने अपने सहयोगी बीएच इंटरनेशनल होल्डिंग्स के माध्यम से नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) पर पेटीएम के 1.56 करोड़ से अधिक शेयर बेचे। एनएसई पर उपलब्ध थोक सौदे के आंकड़ों के अनुसार बीएच इंटरनेशनल होल्डिंग्स ने 1,56,23,529 शेयर बेचे, जो पेटीएम में 2.46 प्रतिशत हिस्सेदारी के बराबर है।

 

इन सौदों का निपटान

इन सौदों का निपटान औसतन 877.29 रुपये प्रति शेयर की कीमत पर किया गया, जिससे लेनदेन का मूल्य 1,370.63 करोड़ रुपये रहा। वन 97 कम्युनिकेशंस ने 20 अक्टूबर को वित्तीय वर्ष 2023-24 की दूसरी तिमाही के रिज़्ल्ट जारी किए थे। जुलाई-सितंबर तिमाही में पेटीएम का नेट लॉस करीब 292 करोड़ रुपए रहा।

 

वॉरेन बफेट ने पेटीएम में किया था निवेश

वॉरेन बफेट की कंपनी बर्कशायर हैथवे की ओर से 2018 में 1,279.7 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से पेटीएम में 2018 में 2,179 करोड़ रुपये का निवेश किया गया था। बता दें, आईपीओ के समय 301.70 करोड़ रुपये के शेयर आईपीओ में बर्कशायर हैथवे इंटरनेशनल द्वारा बेचे गए थे।वॉरेन बफेट के अलावा पेटीएम सॉफ्टबैंक, एंट ग्रुप और अन्य वैश्विक निवेशकों की ओर से भी निवेश किया गया है।

 

पेटीएम के शेयर में गिरावट

पेटीएम की ओर से 2021 के आखिर में आईपीओ लाया गया हैं। इस दौरान कंपनी ने शेयर की कीमत 2,080 रुपये से लेकर 2,150 रुपये प्रति शेयर तय की थी। तब से लेकर अब तक कंपनी के शेयर में बड़ी गिरावट हो चुकी है।

 

परीक्षा से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न

प्रश्न: वॉरेन बफेट की बर्कशायर हैथवे पेटीएम से बाहर क्यों निकली और इसका वित्तीय परिणाम क्या रहा?

उत्तर: बर्कशायर हैथवे अपनी पूरी 2.46% हिस्सेदारी 877.2 रुपये प्रति शेयर की औसत कीमत पर बेचकर पेटीएम से बाहर हो गई। लेन-देन के परिणामस्वरूप 507 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ, घिसालो मास्टर फंड और कॉप्थॉल मॉरीशस इन्वेस्टमेंट ने शेयरों का अधिग्रहण किया।

प्रश्न: किस बात ने बाहर निकलने के लिए प्रेरित किया और यह व्यापक बाजार रुझानों के साथ कैसे मेल खाता है?

उत्तर: बर्कशायर हैथवे का बाहर जाना सॉफ्टबैंक सहित प्रमुख प्री-आईपीओ निवेशकों की प्रवृत्ति का अनुसरण करता है, जो अपनी स्थिति को समायोजित कर रहे हैं क्योंकि पेटीएम के स्टॉक में सुधार के संकेत दिख रहे हैं। यह कदम निवेशकों की उभरती भावनाओं और वित्तीय बाजार में चल रहे पोर्टफोलियो पुनर्गणना को दर्शाता है।

प्रश्न: बर्कशायर हैथवे पर प्रारंभिक निवेश और समग्र वित्तीय प्रभाव क्या था?

उत्तर: बीएच इंटरनेशनल (बर्कशायर हैथवे) की पेटीएम शेयर हासिल करने की औसत लागत 1,279.7 रुपये प्रति शेयर थी। आईपीओ के दौरान शुरुआत में शेयर बेचने और हालिया लेनदेन से लगभग 1,371 करोड़ रुपये की कमाई के बावजूद, बर्कशायर को अपने पेटीएम निवेश से लगभग 507 करोड़ रुपये का कुल घाटा हुआ।

प्रश्न: बाजार ने निकास पर कैसी प्रतिक्रिया दी, और यह पेटीएम के भविष्य के लिए क्या संकेत देता है?

उत्तर: बाहर निकलने से पहले, पेटीएम के शेयरों में 3.23% की गिरावट देखी गई, जो 893 रुपये तक पहुंच गई। बाजार की प्रतिक्रिया निवेशक भावनाओं की गतिशील प्रकृति को रेखांकित करती है, जो पेटीएम के लिए चुनौतियों और अवसरों दोनों को दर्शाती है क्योंकि यह पुनर्प्राप्ति के लिए अपना मार्ग प्रशस्त करती है।

 

Find More Business News Here

Berkshire Hathaway ने Paytm में 2.46% हिस्सेदारी बेची, 507 करोड़ रुपये का घाटा |_40.1

FAQs

पेटीएम कौन से देश की कंपनी है?

पेटीएम एक भारतीय ई-कॉमर्स शॉपिंग वेबसाइट है। जिसका उद्घाटन 2010 में किया गया, One97 Communications इसकी स्वामी है, जो प्रारम्भ में मोबाइल और DTH रिचार्ज किया करती थी। कम्पनी का मुख्यालय नोएडा, भारत में है।