Home   »   उत्तराखंड ने पतंजलि आयुर्वेद के 14...

उत्तराखंड ने पतंजलि आयुर्वेद के 14 उत्पादों के लाइसेंस किए निलंबित

उत्तराखंड ने पतंजलि आयुर्वेद के 14 उत्पादों के लाइसेंस किए निलंबित |_3.1

उत्तराखंड सरकार ने भ्रामक विज्ञापनों का हवाला देते हुए बाबा रामदेव द्वारा स्थापित पतंजलि आयुर्वेद के 14 उत्पादों के विनिर्माण लाइसेंस निलंबित कर दिए हैं। भ्रामक विज्ञापनों को रोकने के निर्देशों का पालन न करने के लिए रामदेव के खिलाफ चल रही जांच और कानूनी कार्यवाही के बीच यह कदम उठाया गया है।

उत्तराखंड सरकार की कार्रवाई

उत्तराखंड के औषधि नियामक ने पतंजलि आयुर्वेद द्वारा बनाए गए 14 उत्पादों के विनिर्माण लाइसेंस निलंबित कर दिए हैं क्योंकि उनकी प्रभावशीलता के बारे में भ्रामक विज्ञापन बार-बार प्रकाशित किए जा रहे थे। 24 अप्रैल को जारी सरकार के आदेश में कंपनी के वास्तविक विज्ञापन से संबंधित नियमों का पालन करने में विफलता पर प्रकाश डाला गया है।

सुप्रीम कोर्ट की भागीदारी

सुप्रीम कोर्ट 30 अप्रैल को इस मामले की सुनवाई करने के लिए तैयार है ताकि यह तय किया जा सके कि भ्रामक विज्ञापनों को रोकने के निर्देशों की कथित अवहेलना के लिए रामदेव के खिलाफ अवमानना के आरोप लगाए जाएं या नहीं। रामदेव को अपने उत्पादों के प्रचार के संबंध में शीर्ष अदालत के आदेशों का पालन नहीं करने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ा है।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की प्रतिक्रिया

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने पतंजलि आयुर्वेद के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए कहा है कि रामदेव के दावे, विशेष रूप से कोविड-19 के उपचार के संबंध में, आधुनिक चिकित्सा के प्रति भ्रामक और अपमानजनक हैं। आईएमए ने आरोप लगाया कि रामदेव ने अपने बयानों के जरिए आधुनिक चिकित्सा और कोविड-19 टीकाकरण अभियान को बदनाम किया है।

IMA की सुप्रीम कोर्ट की आलोचना

हाल की सुनवाई के दौरान, सुप्रीम कोर्ट ने भी IMA की आलोचना की, अपने सदस्यों द्वारा अनैतिक आचरण और अनावश्यक नुस्खे की शिकायतों को उजागर किया। यह आदान-प्रदान स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के भीतर चिकित्सा नैतिकता और जवाबदेही पर एक व्यापक प्रवचन को रेखांकित करता है।

उत्तराखंड ने पतंजलि आयुर्वेद के 14 उत्पादों के लाइसेंस किए निलंबित |_4.1

FAQs

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री कौन हैं?

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हैं।