Home   »   अमेरिकी राष्ट्रपति बिडेन ने भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिकों...

अमेरिकी राष्ट्रपति बिडेन ने भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिकों को प्रौद्योगिकी और नवाचार के लिए राष्ट्रीय पदक से सम्मानित किया

अमेरिकी राष्ट्रपति बिडेन ने भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिकों को प्रौद्योगिकी और नवाचार के लिए राष्ट्रीय पदक से सम्मानित किया |_30.1

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने क्रमशः अशोक गाडगिल और सुब्रा सुरेश को प्रौद्योगिकी और नवाचार के लिए प्रतिष्ठित व्हाइट हाउस राष्ट्रीय पदक और विज्ञान के राष्ट्रीय पदक से सम्मानित किया।

व्हाइट हाउस में एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम में, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने हाल ही में अशोक गाडगिल और सुब्रा सुरेश को उनके अभूतपूर्व कार्य (जिसने न केवल वैज्ञानिक ज्ञान को उन्नत किया है, बल्कि अनगिनत व्यक्तियों के जीवन की गुणवत्ता में भी सुधार किया है) के लिए क्रमशः प्रतिष्ठित व्हाइट हाउस नेशनल मेडल फॉर टेक्नोलॉजी एंड इनोवेशन और नेशनल मेडल ऑफ साइंस से सम्मानित किया।

टेक्नोलॉजी और इनोवेशन के लिए व्हाइट हाउस नेशनल मेडल उन अग्रणी अमेरिकी इनोवेटर्स को दिया जाता है जिन्होंने अमेरिका की प्रतिस्पर्धात्मकता, जीवन की गुणवत्ता और तकनीकी कार्यबल पर अमिट छाप छोड़ी है।

अशोक गाडगिल की उल्लेखनीय उपलब्धियाँ

अमेरिकी राष्ट्रपति बिडेन ने भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिकों को प्रौद्योगिकी और नवाचार के लिए राष्ट्रीय पदक से सम्मानित किया |_40.1

यूसी बर्कले में सिविल और पर्यावरण इंजीनियरिंग के प्रतिष्ठित प्रोफेसर एमेरिटस अशोक गाडगिल को प्रौद्योगिकी और नवाचार के लिए व्हाइट हाउस राष्ट्रीय पदक से सम्मानित किया गया। गाडगिल ने अपना करियर दुनिया की कुछ सबसे गंभीर समस्याओं, विशेष रूप से विकासशील क्षेत्रों में, लागत प्रभावी समाधान विकसित करने के लिए समर्पित किया है।

विकासशील समुदायों के लिए नवोन्मेषी समाधान

गाडगिल का कार्य दुनिया भर के समुदायों को जीवन-निर्वाह संसाधन प्रदान करने पर केंद्रित है। उन्होंने सुरक्षित पेयजल, ऊर्जा-कुशल स्टोव और किफायती विद्युत प्रकाश व्यवस्था जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों के समाधान के लिए कम लागत वाली तकनीक विकसित की है।

लाखों लोगों पर असर

इन वर्षों में, गाडगिल के अभूतपूर्व नवाचारों ने 100 मिलियन से अधिक लोगों के जीवन को प्रभावित किया है। उनका कार्य जीवन स्थितियों को बेहतर बनाने और महत्वपूर्ण वैश्विक चुनौतियों का समाधान करने में सहायक रहा है।

बर्कले लैब मान्यता

गाडगिल की उपलब्धि बर्कले लैब के शोधकर्ताओं द्वारा अर्जित 17वां राष्ट्रीय पदक और प्रौद्योगिकी और नवाचार का दूसरा राष्ट्रीय पदक है। एक साक्षात्कार में, उन्होंने एक न्यायपूर्ण दुनिया बनाने के लिए वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग ज्ञान का लाभ उठाने की अपनी प्रतिबद्धता पर बल दिया।

सुब्रा सुरेश की असाधारण यात्रा

ब्राउन यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग में प्रोफेसर सुब्रा सुरेश को नेशनल मेडल ऑफ साइंस से सम्मानित किया गया, जो संयुक्त राज्य अमेरिका में वैज्ञानिकों को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है। सुरेश के शानदार करियर को इंजीनियरिंग, भौतिक विज्ञान और जीवन विज्ञान सहित विभिन्न क्षेत्रों में अग्रणी अनुसंधान द्वारा चिह्नित किया गया है।

अकादमिक प्रतिभा

1956 में भारत में जन्मे सुरेश की शैक्षणिक यात्रा भी काफी उल्लेखनीय है। उन्होंने 15 वर्ष की आयु में हाई स्कूल से स्नातक की उपाधि प्राप्त की और स्नातक, स्नातकोत्तर और पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। केवल दो वर्षों में एमआईटी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिग्री, उनकी असाधारण प्रतिभा और समर्पण का प्रमाण है।

एनएसएफ में नेतृत्व

सुरेश ने नेशनल साइंस फाउंडेशन (एनएसएफ) का नेतृत्व करने वाले पहले एशियाई मूल के अमेरिकी बनकर इतिहास रच दिया। एनएसएफ में उनका कार्यकाल विज्ञान और इंजीनियरिंग क्षेत्रों में वैश्विक सहयोग और लैंगिक विविधता को बढ़ावा देने की प्रतिबद्धता से चिह्नित था।

ब्राउन विश्वविद्यालय में विरासत

एनएसएफ में अपने कार्यकाल के बाद, सुरेश ब्राउन यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग में लौट आए, जहां उन्होंने विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में वैश्विक सहयोग को बढ़ावा देने और लिंग विविधता बढ़ाने के उद्देश्य से कार्यक्रम शुरू किए। ब्राउन यूनिवर्सिटी ने भी उनके उत्कृष्ट योगदान को मान्यता देते हुए उनके सम्मान में एक संगोष्ठी की घोषणा की।

भविष्य के नवप्रवर्तकों के लिए प्रेरणा और वैश्विक सहयोग का महत्व

ये पुरस्कार न केवल उनकी उत्कृष्ट उपलब्धियों को स्वीकार करते हैं, बल्कि महत्वाकांक्षी वैज्ञानिकों के लिए एक प्रेरणा के रूप में भी कार्य करते हैं, जो दुनिया पर वैज्ञानिक नवाचार के गहरे प्रभाव को उजागर करते हैं। इन भारतीय-अमेरिकी वैज्ञानिकों की मान्यता मानवता की भलाई के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ाने में वैश्विक सहयोग के महत्व को रेखांकित करती है।

FAQs

अमेरिकी राष्ट्रपति कौन हैं?

जो बिडेन

TOPICS: