Home   »   केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने यूएन...

केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने यूएन के एड्स कार्यक्रम में की शिरकत

केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया ने यूएन के एड्स कार्यक्रम में की शिरकत_3.1
नौवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) मनसुख मंडाविया ने स्विट्जरलैंड के दावोस में विश्व आर्थिक मंच (WEF) में संयुक्त राष्ट्र के एड्स कार्यक्रम (UNAIDS) के उच्च-स्तरीय गोलमेज कार्यक्रम में भाग लिया। इस कार्यक्रम का विषय “एक्सेस फॉर ऑलः लीवरेजिंग इनोवेशंस, इंवेस्टमेंट्स एंड पार्टनरशिप्स फॉर हेल्थ” हैं। यूएन के इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य एड्स पर वैश्विक कार्रवाई के बीच तालमेल बिठाना और इसके प्रभाव को कम करना है। इसकी स्थापना 1994 में की गई थी।

क्या है UNAIDS कार्यक्रम?
यूएनएड्स जीवन रक्षक एचआईवी संबंधी सेवाएं देने के लिए सरकारों, निजी क्षेत्र और समुदायों के नेतृत्व को जोड़ने और उन्हें एक-दूसरे से जोड़ने के लिए आवश्यक रणनीतिक दिशा-निर्देश, वकालत, समन्वय और तकनीकी सहायता प्रदान करता है। UNAIDS 2030 के सतत विकास लक्ष्यों के मद्देनजर सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए खतरा बन रहे एड्स को समाप्त करने के वैश्विक प्रयास का नेतृत्व कर रहा है।

भारत की भूमिका

भारत सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र का परिदृश्य बदलने और सबके लिए सस्ती और बेहतर दवाएं उपलब्ध कराने के लिए कई नीतिगत परिवर्तन किए हैं। स्वास्थ्य क्षेत्र में आर्थिक विषमताओं को समाप्त करने के लिए स्वास्थ्य आवश्यकताओं, प्रौद्योगिकियों और समाधानों पर चर्चा की गई। भारत में एड्स कार्यक्रम  NACO (राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन) द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है। यह देश में एड्स की रोकथाम और नियंत्रण कार्यक्रमों के नीति तैयार करने और क्रियान्वयन करने का कार्य करता है। UNAIDS के अनुसार भारत दुनिया में व्यापक रोग एचआईवी के साथ तीसरा सबसे बड़ा देश है।
NACO भारत सरकार के एड्स कार्यक्रमों को क्रियान्वयन करने वाला संगठन है। इसके अलावा, इसके अलावा यह ICMR (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) के साथ मिलकर दो के एचआईवी अनुमान को भी जारी करता है। ये अनुमान पहली बार 1998 में और आखिरी 2017 में जारी किया गया था।

उपरोक्त समाचार से सभी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण तथ्य-

  • विश्व एड्स दिवस: 1 दिसंबर
  • संयुक्त राष्ट्र एड्स मुख्यालय: जिनेवा, स्विट्जरलैंड
  • विनी बयानीमा संयुक्त संयुक्त राष्ट्र कार्यक्रम एचआईवी/ एड्स पर के कार्यकारी निदेशक हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *